संकट के वक्त अच्छी खबर को भी जान लो

संकट के वक्त अच्छी खबर को भी जान लो  

महामारी के कारण लॉकडाउन होने से नौकरियों पर संकट गहराने के बीच एक अच्छी खबर आई है। पिछले एक माह में टेक महिंद्रा, आईबीएम, ग्रोफर्स, बिगबास्केट, कैपजेमिनी, डेलॉयट, वॉलमार्ट लैब्स, गूगल और अमेजन समेत कई कंपनियों ने दो लाख से ज्यादा नौकरियों के लिए विज्ञापन भी दिए हैं। जिससे ये माना जा रहा है कि आने वाले दिनो में भारत में और नौकरियां आ सकती है।   

IT सेक्टर में सबसे ज्यादा नौकरियां 

भले ही लोगों लॉकडाउन के चलते नौकरी जाने का भय सता रहा हो, लेकिन जो लोग आईटी सेक्टर में जॉब कर रहे हैं या करने की तैयारी में हैं उनके लिये नौकरियों का बड़ा पिटारा खुलने वाला है। जिस तरह से कंपनियों ने विज्ञापन निकाले हैं उसको देखते हुए 79 फीसदी नौकरियां आईटी सेक्टर के लिए ही निकली है। ऐसे में जो लोग बीटेक या एमटेक कर रहे हैं, वो परेशान न हों क्योंकि इस मुश्किल वक्त में भी नौकरियां आपका इंतजार कर रही है, कयास ये भी लगाया जा रहा है कि करीब 80 हजार नौकरियां नये लोगों को ध्यान में रख कर निकाली गई हैं। 

डिजिटल एरिया में भी बढ़े अवसर 

लॉकडाउन के दौरान जिस तरह से घर बैठकर डिजिटल काम पर जोर दिया जा रहा है, उससे कयास लगाया जा रहा है कि देश में आने वाले दिनो में इस सेक्टर में भी जमकर नौकरियां निकलने वाली है| खासकर ई- लर्निग और गेमिंग के क्षेत्र में नौकरियों की मांग तेजी से बढ़ सकती है। कयास लगाया जा रहा है कि करीब 45 फीसदी जॉब इस सेक्टर में बढ़ सकती है। फिर क्या जो लोग इस वक्त इस तरह के काम कर रहे है वो थोड़ा और मन लगाकर करें क्योंकि आने वाला कल उनका ही होने वाला है। 

ई- कामर्स में भी बड़ा अवसर 

जिस तरह से ई-कामर्स कंपनिया लॉकडाउऩ के दौरान काम कर रही है, उसको देखते हुए ये कहने में कोई हर्ज नही लगता कि आने वाले दिनों में ये कंपनियां अपना स्वरूप और बड़ा करना चाहेगी जिसके लिये इन्हे कर्मचारी की जरूरत भी होगी और वो इसके लिये लोगों की भर्ती भी शुरू करेगी, जिससे देश में नये रोजगार के अवसर बढ़ेंगे जानकारों की माने तो माना जा रहा है कि आईटी कंपनियों के बाद सबसे ज्यादा ई-कामर्स कंपनियों में ही रोजगार बढ़ेंगे।

मतलब साफ है कि देश में कोरोना संकट के बाद मंदी का दौर तो जरूर कुछ दिन तक रहने वाला है लेकिन मोदी सरकार के बनाये गये योजाओं से जल्द ही देश फिर से तेज गति से दौड़ने लगेगा । जिस तरह से ये नौकरियां आ रही हैं उसको देखकर तो यही लगता है।