70 साल की आदतें बदलने में समय लगता है

It takes time to change 70 years of habits

सच बात है मोदी सरकार सिर्फ सरकार चलाने के लिए नही आई है, बल्कि देश में फैली उन बीमारी को दूर करने के लिए चुनी गई है। जिन बीमारी को छूने से वो लोग डर रहे थे, जो सत्ता में कई दशकों से शासन करते आये थे लेकिन पीएम मोदी ने ये साफ कह रखा था, कि वो सत्ता में सिर्फ मज़े करने के लिये नही, बल्कि देश की बिमारी भी दूर करने आये है, और एक एक कर के वो बीमारी दूर भी कर रहे है, ऐसे में पीएम का ये कथन बिलकुल सच है कि ऐसा करने पर कुछ लोगों की नराजगी भी झेलनी पड़ेगी, कुछ लोगों के अक्रोश का शिकार भी होना पड़ेगा।

बहुत लोगों की नाराजगी मोल लेनी पड़ती है पर देश के लिए करना है

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ देशभर में जारी उग्र विरोध प्रदर्शनों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इशारों-इशारों में इसे एक साहसिक फैसला बताया है। उद्योग जगत के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश को संकटों से निकालने का उनका अभियान लगातार जारी है, लेकिन यह सब आसान नहीं होता है। उन्होंने कहा कि बहुत कुछ सहना पड़ता है, लेकिन देश के लिए करना है।

इतना ही नही पीएम मोदी ने ये भी साफ किया कि उनका कोई गुप्त एजेंडा नही है लेकिन हां एक एजेंडा ये जरूर है कि हमारे 130 करोड़ देशवासियों का विकास कैसे किया जाये। इसके लिये मोदी एंड कंपनी पूरे जोश के साथ लगी हुआ है। फिर वो कोई भी सेक्टर क्यो न हो ।

आर्थिक क्षेत्र – देश की आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने के लिए मोदी सरकार ने कई बड़े कदम उठाये है जिससे देश 5 ट्रिलियन व्यवस्था के लिये आगे बढ़ रही है। उघोग जगत के लिये इसके लिये जहां कई तरह के टैक्स में कमी की गई है, तो FDI देश में तेजी से आये इसके लिये कॉरपोरेट टैक्स को कम किया है, लोगो को नौकरी ज्यादा से ज्यादा मिले इसके लिये छोटे बड़े उघोग लगाने के लिये बैंकों से लोन लेने के तरीके को सरल किया गया है। बैंकों का एकीकरण करके देश में बैंक को मजबूत किया गया। GST व्यवस्था को लागू करके एक कर व्यवस्था से सरकारी खजाने में रकम भी इखट्टा किया गया जिससे उस रकम को देश के विकास के लिये लगाया जाये। साथ ही साथ आम लोगों को राहत देने के लिये आयकर को सरल ही नही किया गया बल्कि टैक्स में भी राहत दी गई है।

रक्षा क्षेत्र – मोदी के पहले कार्यकाल को देखे या फिर अबी 6 महीने के कामकाज को देश की रक्षा व्यवस्था में अमूलचूक परिवर्तन किये गये है सेना को नये हथियारों से लैस किया गया है, तो कई बड़े देशों के साथ रक्षा सौदे भी किये गये है। सेना में अत्याधुनिक हथियारों से लेकर छोटे हथियारों तक की कमी को दूर करने के लिये सरकार हर वक्त कदम उठा रही है। जिसके चलते 23 सौ हजार करोड़ का रक्षा सौदा का मसौदा सरकार ने पास किया है। सरकार की माने तो आने वाले 5 साल में सेना को इतने नये हथियार मिल चुके होगे कि वो भी हाईटेक फौजो में गिनी जायेगी।

गृह क्षेत्र – मोदी सरकार ने कुछ ऐसे फैसले भी किये है, जिसको लेकर देश हमेशा साशंकित रहता था कि अगर ऐसा हुआ तो देश में माहौल बिगड सकता है, लेकिन ऐसा बिलकुल भी नही हुआ। फिर वो जन्मू से धारा 370 हटाने का हो या फिर तीन तलाक का या राम मंदिर का देश में ऐसा माहौल रहा जैसे देश पहले से ही इन फैसलों को लेकर तैयार था लेकिन यहां देशवासियों की तारीफ करना चाहिये जिस तरह से उन्होने शांति का परिचय दिया वो सच में तारीफ के काबिल है।

ऐसे कई मामले है जहां सरकार पुराने ढ़रे को खत्म करके नये तरीके से काम कर रही है, जनता का पूरा भरोसा उसे मिल भी रहा है, ऐसे में ये कहना गलत नही होगा, कि नये भारत में भारतवासी भी बदले है, साथ ही पूरी तरह से आज परिपक्व हो चुके है, वो कहते है न कि वही देश आगे बढ़ता है जिसमें खतरा लेने का माद्दा हो और आज ये माद्दा मोदी सरकार में साफ साफ दिख रहा है। जिससे देश आगे बढ़ नही रहा बल्कि तेजी से आगे बढ़ रहा है।