इसरो का अगला कदम – अंतरिक्ष में भारत का अपना स्पेस स्टेशन

india-planning-to-have-own-space-station
भारत अंतिरक्ष में स्थापित करेगा अपना स्पेस स्टेशन (सांकेतिक तस्वीर)

अंतरिक्ष के क्षेत्र में अपनी कामयाबी का झंडा गाड़ने के बाद इसरो ने अब अपने अगले महत्वाकांक्षी कदम की घोषणा कर दी है| इसरो प्रमुख, के सिवन ने इस बात की औपचारिक घोषणा दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत के क्रम में की| ये भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान के इतिहास में सबसे महत्वाकांक्षी कदम होगा|

गगनयान – भारतीय ह्यूमन स्पेस प्रोग्राम

उल्लेखनीय है कि इसरो चंद्रयान-II के साथ साथ गगनयान नामक एक दुसरे प्रोग्राम पर भी काम कर रहा है| गगनयान भारतीय ह्यूमन स्पेस प्रोग्राम का केंद्रबिंदु है| दिल्ली में पत्रकारों से बात-चीत के दौरान इसरो प्रमुख ने कहा कि, “ह्यूमन स्पेस प्रोग्राम की शुरुआत के बाद भी गगनयान प्रोग्राम चालू रहेगा और भारत का अपना खुद का स्पेस स्टेशन होना इसकी सफलता के लिए अत्यंत आवश्यक है|”

भारत सरकार ने गगनयान के लिए 10,000 करोड़ की राशि पहले ही स्वीकृत कर दी है| 2022 में पहला मानव सहित यान अंतरिक्ष में भेजने का लक्ष्य रखा गया है| उस से पहले दो अन्य मानव रहित यान भी अंतरिक्ष में भेजे जायेंगे|

15 जुलाई को चंद्रयान-II लांच होने वाला है| इसरो का ये महत्वाकांक्षी यान चाँद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा| इस मिशन के पूरा होने के बाद इसरो का ध्यान शुक्र और सूर्य की तरफ भी रुख करने का है|

IndiaFirst बताना चाहेगा कि अब तक विश्व के सिर्फ तीन देशों (अमेरिका, रूस और चीन) का अपना अंतरिक्ष स्टेशन है| इसके अलावा सभी देश अंतर्राष्ट्रीय स्पेस सेंटर का ही उपयोग करते हैं|