ISRO ने पूछा, “आप चाँद पर क्या ले जाना चाहेंगे?” जनता ने दिए बेमिसाल जवाब

 ISRO asked, "What would you like to take on the moon?"

ISRO ने चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण के पूर्व देश की आम जनता के लिए ट्विटर के ज़रिये एक क्विज का आयोजन किया था जिसके ज़रिये जनता से पूछा गया था कि अगर आम जनता को चाँद पर जाने का मौका मिले तो वो अपने चाँद पर क्या लेकर जाना चाहेंगे?

ISRO ने अपने ट्वीटर के ज़रिये अपने पूछे गए सवाल पर देश की जनता के जवाबों की तस्वीर को साझा किया है|

जितना मजेदार ये सवाल था, यूज़र्स के जवाब भी उतने ही मजेदार थे| किसी ने कहा कि वो चाँद पर अपने साथ भारत का नक्शा, भोजन, और ऑक्सीजन के साथ कुछ जरूरी चीजें ले जाना चाहेंगे| वहीँ किसी ने बरगद का पेड़ तो किसी ने मातृभूमि की मिट्टी और बच्चों के सपने को चाँद पर ले जाने की इच्छा ज़ाहिर की| एक यूजर तो ऐसे भी थे जो चाँद पर स्कूप ले जाना चाहते थे ताकि वहां से पानी वापस ला सके|

इनमे ज़्यादातर यूज़र्स ने चाँद पर तिरंगा और देश की मिट्टी ले जाने की बात कही| सारे जवाबों में एक ऐसी भी यूजर थी जिनका कहना था कि वो अपने साथ चंद्रयान-2 के वैज्ञानिकों का नाम लेकर जाना चाहेंगी | इन यूजर का नाम था शालिनी जो मुंबई की रहने वाली थी| इनमे कुछ यूज़र्स ने चाँद पर ड्रोन लेकर जाने की भी इक्छा ज़ाहिर की| खैर ये तो जनता की अपनी-अपनी इक्छा है कि वो अपने साथ-साथ चाँद पर क्या लेकर जायेंगे|

प्रक्षेपण का सीधा प्रसारण

‘अपने पाठकों को जानकारी दी थी कि चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण को आम जनता भी देख पाए इसके लिए ISRO ने अपनी अधिकारिक वेबसाईट पर प्रक्षेपण के लाइव प्रसारण की सुविधा देने की बात कही थी, जिसके लिए आम जनता को ISRO के अधिकारिक साईट पर अपना रजिस्ट्रेशन करना था| रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 3 और 4 जुलाई को होनी थी| ऐसा पहली बार होगा जब किसी सैटेलाइट के लाइव प्रक्षेपण की साक्ष्य जनता भी बन पायेगी|

प्रक्षेपण की तिथि में बदलाव

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण के लिए 12-13 जुलाई की मध्यरात्रि का समय निर्धारित किया था, पर ताज़ा जानकारी के अनुसार अब ISRO ने चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण के लिए 15 जुलाई का दिन निर्धारित किया है| चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण श्रीहरिकोटा से किया जाना है| प्रक्षेपण में विलम्ब होने के कारण को अभी तक ISRO ने स्पष्ट नहीं किया है| बता दें कि इसके पहले भी चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण के तिथि को चार बार बदला जा चूका है|