100 मीटर की रेस 11 सेकंड में पूरा करने वाला भारत का यूसैन बोल्ट आया सामने, खेल मंत्रालय ने समर्थन का किया वादा

कहते है भगवन ने हर एक व्यक्ति को एक अनोखे प्रतिभा के साथ इस धरती पर भेजा है | बस ज़रुरत है अपने अन्दर के इस अनोखे प्रतिभा को पहचानने की और इसे सही दिशा में तराशने की | ऐसी ही एक प्रतिभा सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर तेज़ी से वायरल हो रही है | जी हाँ सोशल मीडिया पर एक विडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमे ये दावा किया जा रहा है की मध्य प्रदेश के शिवपुरी के युवा धावक रामेश्वर सिंह 100 मीटर की रेस मात्र 11 सेकंड में पूरा कर लेते है | इस विडियो को सोशल मीडिया पर खूब शेयर भी किया जा रहा है |

पूर्व मुख्यमंत्री ने टि्वटर के जरिए खेल मंत्री से मांगा सपोर्ट

शेयर करने के क्रम में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भी इस युवा धावक के विडियो को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर करते हुए लिखा है की ‘भारत ऐसी व्यक्तिगत प्रतिभा का धनी है | अगर इन्हें सही अवसर और सही प्लेटफॉर्म मिले तो ये लोग निश्चित तौर पर नया इतिहास रचते हुए दिखाई देंगे |’ इसके साथ ही शिवराज सिंह ने केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजूजू से अनुरोध भी किया की इस युवा धावक के प्रतिभा की सराहना करते हुए इसे आगे बढ़ने का मौका दिया जाना चाहिए |

शिवराज ने विडियो के लिए पत्रकार को बोला – थैंक्स

अपने ट्विट में शिवराज ने उस पत्रकार का भी धन्यवाद् किया जिसने इस प्रतिभाशाली धावक की प्रतिभा को देश के सामने रखा है | इस तेज़ रफ़्तार वाले युवा की विडियो बनने वाले पत्रकार को थैंक्स बोलते हुए शिवराज ने ट्विट किया की- ‘आज आपकी बदौलत हम अपने देश के इस प्रतिभा से रूबरू हुए है | विडियो बनाने और शेयर करने के लिए धान्यवाद |’

नंगे पाँव दौड़ता है युवक 100 मीटर की ट्रैक 11 सेकंड में

वायरल हो रहे विडियो में युवा धावक रामेश्वर नंगे पावं में नज़र आ रहे है | सड़क पर की गयी चुने से 100 मीटर की मार्किंग भी विडियो में साफ़ नज़र आ रही है | 11 सेकंड के इस विडियो में रामेश्वर तेज रफ़्तार के साथ इस मार्किंग को पर करते नज़र आ रहे है |

शिवराज के अनुरोध पर खेल मंत्री ने किया समर्थन का वादा

शिवराज सिंह के द्वारा वायरल किया गया विडियो और उनके द्वरा किये गए ट्विट को देखते ही केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजूजू ने जमकर इस एथलिट की तारीफ की | साथ ही उन्होंने ट्विट का जवाब देते हुए लिखा ‘शिवराज सिंह जी किसी को कहिए कि इस (रामेश्वर) ऐथलीट को मेरे पास लेकर आए | मैं उन्हें ऐथलेटिक अकैडमी में रखने के लिए पूरा इंतजाम करूंगा |’ खेल मंत्री ने इस एथलिट को पूरा समर्थन देने का वादा भी किया है | केंद्रीय खेल मंत्री के इस समर्थन को देश की जनता खूब पसंद् कर रही है |

सबसे बड़ी बात ये है की शहरों में रहने वालो युवकों और बच्चों को अपनी प्रतिभा दिखने का मौका उनके विद्यालयों द्वारा दिया जाता है और इस मौके पर चौका मरकर वो अपनी इस प्रतिभा से देश का नाम रौशन करते है | पर व्यवस्था के अभाव के चलते गाँव में ये प्रतिभा कहीं दब कर रह जाती है | ऐसे में एक जिम्मेदार नागरिक होने के तौर पर ये हमारी जिम्मेदारी है की हम इन प्रतिभाओ को उभरने में इन युवकों की मदद करे ताकि आगे चलकर ये प्रतिभाएं देश का नाम रौशन कर सके |