भारत का रहने वाला हूँ भारत की बात सुनाता हूँ : पीएम मोदी ने न्यू इंडिया कि झलक दिखाई।

दुनिया भर मे बदल रही भारत की छवि के पीछे अगर किसी का हाथ है तो वो है पीएम मोदी और उनकी सरकार का तभी आज भारत का लोहा पूरा विश्व मान रहा है, वही भारत से बाहर रह रहे प्रवासी भारतीय भी भारत की छवि को खूब चमका रहे है। तभी तो पीएम मोदी भी कह रहे है कि प्रवासी भारतीय दीपावली के दीपक की तरह से पूरी दुनिया को अपने प्रकाश से प्रकाशित कर देश का नाम ऊंचा कर रहे है। इसके साथ  पीएम ने देश मे पिछले चार साल मे हुए बदलाव के बारे मे भी बतलाया ।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत व्‍यापक बदलाव के दौर से गुजर रहा है और इस समय हमारे देश में 1 जीबी इंटरनेट कोल्‍ड ड्रिंक की एक छोटी बोतल से भी सस्‍ता है।

उन्‍होंने कहा, ‘भारत और जापान के बीच संबंधों की जड़ें पंथ से लेकर प्रवृति तक हैं। हिंदू हो या बौद्ध मत, हमारी विरासत साझा है। हमारे आराध्य से लेकर अक्षर तक में इस विरासत की झलक मिलती है। भारत और जापान के रिश्तों के ताने बाने में ऐसे अतीत के बहुत से मजबूत धागे हैं। भारत और जापान के इतिहास को जहां बुद्ध और बोस जोड़ते हैं, वहीं वर्तमान को आप जैसे नए भारत के दूत मजबूत कर रहे हैं।’

 

पीएम मोदी ने कहा, “अभी हाल में दुनिया की दो बड़ी संस्थाओं ने भारत के प्रयासों सराहा है और सम्मानित किया है। ग्रीन फ्यूचर में योगदान के लिए संयुक्त राष्ट्र ने ‘चैंपियन ऑफ द अर्थ’ के रूप में और दक्षिण कोरिया ने ‘सोल पीस प्राइज’ के रूप में भारत को यह सम्मान दिया गया। सोल पीस प्राइज सवा सौ करोड़ भारतीयों के प्रतिनिधि के रूप में भले ही मुझे दिया गया हो लेकिन मेरा योगदान माला के उस धागे जितना है जो मनकों को पिरोता है और संगठित होकर आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करता है।“

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘भारत आज व्‍यापक बदलाव के दौर से गुजर रहा है। जनधन, आधार और मोबाइल, यानि JAM से जो पारदर्शिता भारत में आई है, उससे अब दुनिया के दूसरे विकासशील देश भी प्रेरित हो रहे हैं। भारत में बनाए गए इस सिस्टम की स्टडी की जा रही है। इसके अलावा डिजिटल ट्रांजेक्‍शन की हमारी आधुनिक व्यवस्था, जैसे BHIM App और Rupay Card इनको लेकर भी दुनिया के अनेक देशों में उत्सुकता है।’

हमने बहुत ही कम खर्च में ‘चंद्रयान’ और ‘मंगलयान’ अंतरिक्ष में भेजा, अब 2022 तक भारत ‘गगनयान’ भेजने की तैयारी में जुटा है। ये गगनयान पूरी तरह से भारतीय होगा और इसमें अंतरिक्ष जाने वाला भी भारतीय होगा।’ पीएम मोदी ने जापान में रह रहे भारतीय समुदाय को अगले साल वाराणसी में होने जा रहे प्रवासी भारतीय सम्‍मेलन में शिरकत करने के लिए आमंत्रित किया।