टीकाकरण में भारत की लंबी छलांग

कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान में भारत लगातार नये नये रिकार्ड बना रहा है और बहुत तेजी से बना रहा है। इसी क्रम में जहां भारत ने 150 करोड़ से अधिक डोज लगाकर एक मील का पत्थर हासिल किया है तो 5 दिन पहले शुरू हुए 15 से 18 साल के किशोरों का टीकाकरण भी 2 करोड़ के आंकड़े को पार कर चुका है।

150 करोड़ लोगों के हुआ टीकाकरण

भारत कोरोना से पहले दिन से ही पूरी ताकत के साथ लड़ता हुआ दिखाई दे रहा था। इसका सबसे बड़ा उदाहरण यही है कि भारत में तेजी के साथ टीकाकरण का काम किया गया। इस बाबत भारत में 150 करोड़ लोगों के टीकाकरण का काम पूरा हो चुका है जो एक बड़ी कामयाबी है। इस बाबत पीएम मोदी ने देश को बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करके कहा, ‘टीकाकरण के मोर्चे पर एक उल्लेखनीय दिन! 150 करोड़ का मील का पत्थर पार करने पर हमारे देशवासियों को बधाई। हमारे टीकाकरण अभियान ने सुनिश्चित किया है कि कई लोगों की जान बची है। साथ ही हमें सभी कोरोना संबंधित प्रोटोकाल का भी पालन करते रहना है। भारत उन सभी लोगों का आभारी है, जो हमारे टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए काम कर रहे हैं। हम अपने डाक्टरों, वैज्ञानिकों, इनोवेटर्स और स्वास्थ्यकर्मियों को धन्यवाद देते हैं, जो लोगों का टीकाकरण कर रहे हैं। मैं सभी पात्र लोगों से टीका लेने का आग्रह करता हूं। आइए मिलकर कोरोना से लड़ें।’

2 करोड़ किशोरों के भी हुआ टीकाकरण

3 जनवरी से 15-18 उम्र ग्रुप के बच्चों के वैक्सीनेशन की भी शुरुआत कर दी। देश भर में अब तक 150.61 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। बीते चौबीस घंटों के दौरान 90 लाख से ज्यादा लोगों ने अपना वैक्सीनेशन करवाया। वहीं, 15 से 18 साल के बच्चों की बात करें तो इस उम्र ग्रुप के 2 करोड़ से ज्यादा बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है जो एक बड़ा मुकाम है। इससे ये साफ होता है कि बच्चे हो या युवा सभी कोरोना को हराने के लिए पूरी तरह से जागरूक है।

ये आंकड़े उनके आंख जरूर खोल रहे होगे जो लगातार ये कहते हुए नजर आते है कि देश में कोरोना को लेकर कोई ठोस कदम नही उठाया गया है।

Leave a Reply