चीन के प्रॉपगंडा का भारतीय फौज ने दिया जवाब, गलवान में फहराया भारतीय तिरंगा

भारतीय सेना ने चीन को फि‍र जवाब द‍िया है वो भी उसके प्रॉपगंडा को नेस्तनाबूत करते हुए। भारतीय सेना ने भी नए साल के अवसर पर गलवान घाटी पर त‍िरंगा फहराया है जि‍सकी तस्‍वीरें सेना की तरफ से सार्वजन‍िक जारी की गई हैं। यह तस्वीर चीन के उस प्रॉपगंडा वीडियो के जवाब में था जिसमें चीन ने गलवान के भारतीय हिस्से में चीनी झंडा फहराते दिखाया था।

चीन को सेना का जवाब

नए साल के अवसर पर झंडों के माध्‍यम से प्रॉपगंडा युद्ध का सहारा पहले चीन ने ल‍िया था और अब उसका जवाब भारतीय सेना ने दिया है। सेना ने देश में उन लोगों को भी करार जवाब दिया है जो सेना के शौर्य और चीन की सेना की बड़ाई में ट्वीट कर रहे थे और चीन को भारत के हिस्से में घुस आने की बात पर सरकार पर निशाना साध रहे थे। लेकिन आज सेना ने साफ कर दिया कि दुश्मन सिर्फ सोशल मीडिया में अफवाह फैलाकर सिर्फ देश में माहौल बिगाड़ना चाहता था और उसमें देश के कुछ लोग मदद कर रहे थे जिसे आज सेना ने एक ही वॉर से खत्म कर दिया।

दोनों देशों की तरफ से सीमा पर तैनात हैं 50-50 हजार जवान

गलवान में चीन और भारतीय सैन‍िकों के बीच बीते वर्ष झड़प का मामला सामने आया था ज‍िसमें भारतीय सैन‍िकों ने चीन के सैन‍िको को सबक सीखाया था। हालांक‍ि इसमें भारत के सैनि‍क भी शहीद हुए थे। तब से दोनों देशों की सेना की तरफ से घाटी में 50 -50 हजार जवानों की तैनाती की गई है। वही गलवान के साथ ही अरुणाचल में भारत का चीन के साथ सीमा व‍िवाद जारी है। चीन ने अरुणाचल प्रदेश में भारतीय इलाकों के नाम बदल द‍िए थे। चीन ने बीते द‍िनों अरुणाचल प्रदेश के 15 स्थानों के लिए चीनी अक्षरों, तिब्बती और रोमन वर्णमाला के नामों की घोषणा की थी जिसका भारत ने कड़ा विरोध किया था।

वैसे लद्दाख से लेकर अरूणाचल प्रदेश तक चीन की हर हरकत पर भारतीय फौज ध्यान रखे हुए है और चीन जरा सा भी हमारी सीमा में आने की कोशिश करता है तो उसे अच्छी तरह से समझा भी दिया जाता है क्योकि भारत वो देश है जो ना किसी की एक इंच जमीन लेता है और ना ही अपनी जमीन पर दूसरों को बर्दाश्त करता है। ऐसे मौके पर जब एकजुट होकर इससे निपटना चाहिये और सेना का हौसला बढ़ाना चाहिये

तो कुछ लोग देश पर ही सवाल खड़े करके चीन का काम आसान कर रहे हैं ऐसे लोगों से हमें सावधान होना होगा और उन्हे करारा जवाब भी देना होगा।