नागरिकता सुधार कानून के समर्थन में बोस्टन में भारतीय-अमेरिकियों की रैली

भले ही भारत में चंद शिक्षा संस्थाओं में विपक्ष में बहकावे में छात्रों और बाहरी उपद्रवियों ने मिलकर नागरिकता सुधार कानून के विरोध में रैली निकाली| लेकिन इस कानून को न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी अप्रत्याशित समर्थन मिला है|

CAA के समर्थन में बोस्टन में भारतीय-अमेरिकियों ने निकाली रैली

अमेरिका में मेसाचुसेट्स की राजधानी और सम्पूर्ण विश्व में तकनीकी शिक्षा का केंद्र के रूप में प्रसिद्ध शहर बोस्टन में नागरिकता सुधार कानून (Citizenship Amendment Bill – CAA) के समर्थन में भारतीय-अमेरिकियों ने रैली निकाली|

अत्यधिक ठंढ में शून्य से भी नीचे के तापमान में ऐतिहासिक हार्वर्ड स्क्वेयर निकाली गयी इस रैली के लिए भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोगों ने ठंढ की भी परवाह नहीं की| रैली में शामिल लोग पोस्टर और बैनर लेकर CAA के प्रति अपना समर्थन प्रकट कर रहे थे जिस पर प्रमुखतः निम्नलिखित नारे लिखे थे:

  • ‘‘हम संशोधित नागरिकता कानून का समर्थन करते हैं’’
  • ‘‘भारतीय-अमेरिकी सीएए का समर्थन करते हैं’’
  • ‘‘सीएए प्रताड़ना के शिकार अल्पसंख्यकों को नागरिकता देता है’

रैली के आयोजकों ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर ये जानकारी दी। रैली में भारतीय-अमेरिकी लोगों ने इस कानून को लागू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय संसद का आभार प्रकट किया। आयोजकों ने बताया कि यह रैली लोगों को नए नागरिकता अधिनयिम के बारे में सही जानकारी देने और इस अधिनियम के प्रति समर्थन व्यक्त करने के लिए निकाली गई थी।

भारत में हुए थे हिंसक प्रदर्शन

बता दें कि CAA के विरोध में भारत के कई शहरों में हिंसक प्रदर्शन हुए थे| विपक्ष और उनके द्वारा हमराह की हुई जनता ने इस नए नागरिकता कानून को मुस्लिमों के विरुद्ध बताया था और सरकार से इसे वापस लेने की मांग की थी|