दोस्त इजरायल की मदद से रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा भारत 

सरहद पर चीन की चालबाजी और आतंकी पाकिस्तान की नापाक हरकत के बीच भारत और इजरायल के बीच बड़ी डील हुई है। दुश्मन देशों को जवाब देने के लिए पीएम मोदी और इजराइल के बेंजामिन नेतन्‍याहू ने हाथ मिलाया है। भारत और इजरायल के बीच होने वाले इस डील को लेकर चीन चिल्लाने लगा है और पाकिस्तान घबरा गया है। जानकारों की मानें तो डील दुश्मनों के ताबूत में आखिरी कील साबित हो सकता है।

रक्षा क्षेत्र में भारत इजरायल के बीच हुई बड़ी डील

आने वाले दिनो में भारत और इजरायल अत्याधुनिक और घातक हथियार बनाएंगे। ऐसे हथियार जो किसी भी देश के पास नहीं हैं। ऐसे हथियार जिन्हें आप वर्ल्ड वार के अस्त्र कह सकते हैं। भारत और इजरायल के बीच जो समझौता हुआ है उसके तहत इजरायल भारत को डिफेंस टेक्नोलॉजी देगा। दोनों देश के वैज्ञानिक मिलाकर घातक हथियार तैयार करेंगे। दो दोस्त मिलकर  फाइटर जेट, मारक मिसाइल और मिसाइल सिस्टम तैयार करेंगे। इसके अलावा हाईटेक रडार सिस्टम और सेंसर बनाया जाएगा। दो करीबी दोस्तों का ये कदम एक साथ चीन और पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ा देगा। इजरायल मिसाइल, मिसाइल सिस्टम, फाइटर जेट्स, रडार और सेंसर क्षेत्र में वर्ल्ड लीडर है। इजरायल के पास ऐसी ऐसी तकनीक, ऐसी ऐसी घातक मिसाइलें हैं, जो किसी भी देश के पास नहीं है। इसीलिए दिखने में छोटा सा लगने वाला इजरायल बहुत बड़ा और पावरफुल देश माना जाता है। इतना पावरफुल कि उससे टकराने की हिम्मत कोई नहीं कर पाता।

भारत इजरायल का पुराना याराना

आपको बता दें कि इजरायल भारत का बहुत ही पुराना दोस्त है। ये वही इजरायल है, जिसने करगिल जंग में भारत की मदद की थी। उस जंग में हमें इजरायल ने हथियार दिए थे। 2014 में पीएम मोदी के आने के बाद से ही दोनों देशों की दोस्ती नए मुकाम पर पहुंच चुकी है। इस वक्त इजरायल उन चंद देशों में से एक है, जो हिंदुस्तान के सबसे बड़े और खास दोस्त हैं। यही वजह है कि इजरायल अपने दोस्त भारत को और ज्यादा ताकतवर और हाईटेक बनाने के लिए आगे आया है। मोदी सरकार ने ‘प्रॉजेक्ट चीता’ की गति तेज करने का फैसला किया है, जिसके तहत लेजर गाइडेड बमों से लैस हेरॉन ड्रोन, हवा से जमीन पर मार करने वाली टैंक रोधी मिसाइल खरीदा जाएगा। इसके साथ-साथ दूसरे प्रेसिजन गाइडेड हथियार भी खरीदे जाने हैं। जो डील हुई है उसके तहत भारत में अब  फालकॉन अवॉक्स विमान, बराक एंटी-मिसाइल डिफेंस सिस्टम्स और स्पाइडर क्विक-रिएक्शन एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल सिस्टम्स का निर्माण इजरायल भारत में ही करेगा।

 

अमेरिका, रूस और इजरायल जैसे दोस्तों की मदद से भारत लगातार खुद को मजबूत बना रहा है। इतना मजबूत कि आने वाले वक्त में चीन हमसे घबराएगा और पाकिस्तान तो दूर दूर तक कहीं नजर नहीं आएगा।