चीनी सीमा से एक बार फिर भारत ने ड्रैगन को चेताया

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पीएम मोदी के कड़े रूख के बाद अब भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लद्दाख के पेंगोंग झील के किनारे खड़े होकर चीन को सख्त संदेश दिया। रक्षामंत्री ने लुकुंग चौकी पर जवानों का हौसला अफजाई करते हुए बोला कि भारत की एक इंच जमीन को दुनिया की कोई ताकत छू नहीं सकती है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब समझौते के बाद भी चीन की सेना पेंगोंग झील के फ़िंगर 5 से पीछे हटने को तैयार नहीं हो रही है।

चोट पहुंचाने की कोशिश की, तो देंगे मुंहतोड़ जवाब’

चीन सीमा पर खुद राजनाथ सिंह ने सेना की तैयारियों का जायजा लिया तो मशीन गन को चलाकर दुश्मन मुल्क को अपना रुख भी साफ कर दिया। इस मौके पर राजनाथ ने चीन को चेतावनी देते हुए बोला  ‘मैं इतना यकीन जरूर दिलाना चाहता हूं कि भारत की एक इंच जमीन भी दुनिया की कोई ताकत छू नहीं सकती, उस पर कोई कब्जा नहीं कर सकता और अगर कोई ऐसा करने की सोच रखता है तो वो फिर अंजाम के लिए तैयार रहे। हमारा चरित्र रहा है कि हमने किसी भी देश के स्वाभिमान पर चोट मारने की कभी कोशिश नहीं की है। भारत के स्वाभिमान पर यदि चोट पहुंचाने की कोशिश की गई तो हम किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेंगे और मुंहतोड़ जवाब देंगे।

भारतीय फौज के ऊपर देश को नाज है

देश के वीरों के बीच राजनाथ सिंह ने साफ किया कि मोदी सरकार और 130 करोड़ भारतीयों को देश की फौज पर पूरा भरोसा है कि वो देश पर आई सब विपदा को खत्म कर सकती है इतना ही नही उन्होंने गलवान में शहीद हुए भारतीय सेना के जवानो की शहादत पर ग़म जताते हुए कहा कि देश हमारे बिहार रेजिमेंट के जवानो  की कुर्बानी बेकार नही जायेगी और चीन को भारत के आगे झुकना ही होगा। सारी दुनिया को संदेश देते हुए रक्षामंत्री ने कहा कि भारत दुनिया का इकलौता देश है जिसने सारे विश्व को शांति का संदेश दिया है। हमने किसी भी देश पर कभी आक्रमण नहीं किया है और न ही किसी देश की ज़मीन पर हमने कब्जा किया है। भारत ने वसुधैव कुटुंबकम का संदेश दिया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इस वक्त दो दिन के दौरे पर कश्मीर और लद्दाख  गये हैं। जिसके तहत वो पहले चरण में लद्दाख से सटी चीन सीमा पर गये तो कल वो पाकिस्तान से सटी सीमा पर जाकर वहां का जायजा लेंगे और फौज के जवानों का  हौसला बढ़ायेंगे। गौरतलब है कि मोदी सरकार लगातार फौज के जवानो के लिए काम कर रही है। इसी के चलते सरकार ने छोटे हथियार खरीदने के लिए फौज को 300 करोड़ रूपये तक खर्च करने का अधिकार दिया है तो उन फौज के जवानों को फायदा भी दिया है जो 10 साल से कम वक्त तक फौज में रहे हैं क्योंकि अब उन्हे पेंशन भी दी जायेगी।

कुल मिलाकर पहले खुद पीएम मोदी ने जाकर चीन को सख्त लहजे में समझा दिया कि भारत इस बार झुकने वाला नही है तो अब राजनाथ सिंह के दो टूक शब्दों के बान से ड्रैगन के कान जरूर खड़े हो गये होंगे क्योंकि ये साफ है कि अगर ड्रैगन अपने आप नही माना तो इसबार भारत 1962 वाला भारत नही वो इतनी सख्त कार्यवाही करेगा कि चीन भी जिंदगी भर याद रखेगा


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •