विश्व डिजिटल प्रतिस्पर्धा रैंकिंग में भारत 44वें स्थान पर पंहुचा

world digital competition rankings | PC - IMD

वैश्विक रिपोर्ट के अनुसार, डिजिटल प्रतिस्पर्धा को अपनाने और इसका पता लगाने के लिए ज्ञान और भविष्य की तत्परता के मामले में भारत ने दुनिया में डिजिटल प्रतिस्पर्धा के मामले में चार स्थान चढ़कर 44वें स्थान पर आ गया है।

भारत इस साल 2018 में 48वें स्थान से बढ़कर 44वें स्थान पर पहुंच गया क्योंकि देश में पिछले साल की रैंकिंग की तुलना में सभी कारकों – ज्ञान, प्रौद्योगिकी और भविष्य की तत्परता में समग्र सुधार हुआ है।

IMD वर्ल्ड डिजिटल कॉम्पिटिटिव रैंकिंग 2019 (WDCR) के अनुसार, “भारत ने 2019 में चार स्थान ऊपर चढ़ते हुए, प्रौद्योगिकी स्तर में सबसे बड़े सुधार के साथ दूरसंचार निवेश में पहला स्थान हासिल किया”।

अमेरिका को दुनिया की सबसे डिजिटल प्रतिस्पर्धात्मक अर्थव्यवस्था के रूप में स्थान दिया गया है, जिसके बाद सिंगापुर दूसरे स्थान पर है। इस सूची में स्वीडन तीसरे स्थान पर रहा, उसके बाद क्रमशः 4वें और 5वें स्थान पर डेनमार्क और स्विट्जरलैंड है। शीर्ष -10 सबसे डिजिटल प्रतिस्पर्धी अर्थव्यवस्था की सूची में नीदरलैंड(6वें), फिनलैंड (7वें), हांगकांग (8वें), नॉर्वे (9 वें) और कोरिया गणराज्य (10वें) स्थान पर शामिल हैं।

रैंकिंग में सबसे बड़ी छलांग चीन द्वारा दर्ज की गई थी, जो 30वें से 22वें और इंडोनेशिया 62वें से 56वें स्थान पर पहुँच गया है । पिछले वर्ष की तुलना में कई एशियाई देशों ने रैंकिंग में काफी सुधार किया हैं। हांगकांग (8वें) और कोरिया गणराज्य (10वें) ने पहली बार शीर्ष -10 में प्रवेश किया, जबकि ताइवान और चीन क्रमशः 13वें और 22वें स्थान पर आ गए।

आईएमडी विश्व प्रतिस्पर्धा के निदेशक, आर्टुरो ब्रिस ने कहा, “भारत और इंडोनेशिया ने क्रमश: प्रतिभा, प्रशिक्षण और शिक्षा में सकारात्मक परिणामों के साथ-साथ चार और छह पदों की छलांग लगाई।”

गौरतलब है की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब से देश की बागडोर संभाली है, दुनियाभर में देश की साख मजबूत हुई है। मोदी राज में पिछले पांच वर्षों के दौरान अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की तमाम रैंकिंग में सुधार हुआ है।

नजर डालते हैं पिछले पांच वर्षों में भारत की कुछ अहम उपलब्धियों पर-

 वैश्विक आर्थिक स्वतंत्रता सूचकांक में 17 पायदान की छलांग
 विश्व यात्रा पर्यटन प्रतिस्पर्धा सूचकांक में भारत ने लगाई छह पायदान की छलांग
 ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में 52वें पायदान पर भारत
 प्रतिस्पर्धा रैंकिंग में 43वें स्थान पर भारत
 वैश्विक प्रतिस्पर्द्धा सूचकांक में भारत की रैंकिंग में सुधार
 भारत की ईज ऑफ ट्रैवल रैंकिंग में सुधार
 भारतीय पासपोर्ट ने लगाई 10 पायदान की छलांग
 ग्लोबल एनर्जी ट्रांजिशन इंडेक्स में चीन से आगे निकला भारत
 ईज ऑफ डूईंग बिजनेस में भारत ने लगाई 23 पायदान की छलांग
 विश्व के सबसे भरोसेमंद देशों में शामिल हुआ भारत
 मोदी सरकार दुनिया की तीन सबसे भरोसेमंद सरकारों में
 ग्लोबल कंज्यूमर कॉन्फिडेंस सर्वे में टॉप पर भारत
 बौद्धिक संपदा सूचकांक में लगाई आठ अंकों की छलांग
 वैश्विक भ्रष्टाचार सूचकांक में सुधरी भारत की रैंकिंग
 भारत ने पहली बार 60 अर्थव्यवस्थाओं के ‘ब्लूमबर्ग इनोवेशन इंडेक्स’ में बनाई जगह
 विश्व में सबसे तेजी से विकास करने वाले टॉप 10 शहरों में सभी भारत के
 एशिया पैसिफिक में सबसे तेज प्रगति करने वाला देश बना भारत
 मानव विकास सूचकांक में भारत की रैंकिंग में सुधार
 ग्लोबल पीस इंडेक्स में 4 पायदान सुधार के साथ 137वें नंबर पर भारत
 भारत बना दुनिया का छठा सबसे धनी देश