भारत को बड़ी कूटनीतिक कामयाबी CAA पर मिली

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एक बार फिर मोदी जी की कूटनीति का लोहा देखा जा रहा है। तभी लाख कोशिश के बाद भी CAA मुद्दे पर भारत के दुश्मनों की हार हुई है। यूरोपीय संसद में नागरिकता कानून के खिलाफ वोटिंग नही की जायेगी, जो अपने आप में देश की एक बड़ी जीत है।

भारत का दम विश्व मान रहा है

नागरिकता कानून पर भारत की बड़ी अंतरराष्ट्रीय जीत हुई है, यूरोपीय संसद में नागरिकता कानून के खिलाफ प्रस्ताव पर कल वोटिंग का फैसला वापस ले लिया गया। भारत ने इस घटनाक्रम का स्वागत करते हुए कहा कि यूरोपीय संसद में देश के दोस्त आज एक बार फिर पाकिस्तान के समर्थकों पर भारी पड़े हैं। इसके अलावा भारत ने नागरिकता कानून को आंतरिक मामला बताया है और कहा है कि इसे समुचित लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत लाया गया है। गौरतलब है कि भारत के पक्ष में 271 तो विपक्ष में 191 वोट पड़े जबकि 13 सदस्य इसमे शामिल नही हुए।

इस फैसले ने उन लोगो को जवाब मिल गया होगा जो पीएम के विदेश दौरे का हमेशा मजाक उड़ाते है, या फिर इसे सिर्फ सैर सपाटा बताते है। लेकिन सच तो ये है, कि पीएम मोदी ने विदेश दौरों का ही नतीजा है कि आज भारत की छवि विदेश में बदली है। जिसके चलते समूचा विश्व भारत के साथ खड़ा हो रहा है। सबसे बड़ी बात ये है कि इसमे वो देश भी भारत के साथ दिख रहे है, जो कभी भारत के साथ खड़े नही होते थे यानी की मध्य एशिया के देश पर आज वो भी भारत के साथ खड़े है।

मतलब साफ है कि बदलते भारत की तस्वीर अब दिखने लगी है जिसमें भारत न ऑख झुकाकर बात करता है और न ऑख दिखाकर बात करता है बल्कि भारत ऑख मिलाकर बात करता है। तभी आज भारत के वजूद में चार चांद लग रहे है और भारत दुनिया में एक सितारे की तरह चमकने लगा है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •