टोक्यो ओलंपिक में पहले दिन पदक के साथ भारत ने रचा इतिहास

कहते हैं ना कि सच्ची मेहनत का फल जरूर मिलता है आज मीराबाई चानू ने इस बात को फिर से साबित कर दिया जब उन्होंने इतिहास रचते हुए भारोत्तोलन स्पर्धा में देश को सिल्वर पदक दिलवाया। इसके साथ साथ आज दो इतिहास और रचे गये पहला  21 साल बाद भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत को पदक मिला तो भारत के ओलंपिक इतिहास में पहली बार भारत ने ओलंपिक के पहले दिन कोई पदक जीता।

 

भारोत्तोलन स्पर्धा में 21 साल का पदक का सूखा हुआ खत्म

टोक्यो ओलंपिक में मीराबाई चानू ने पहला मेडल जीतकर भारत का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है। आज टोक्यो ओलंपिक का पहला दिन है और पहले ही दिन भारत की झोली में एक मेडल आ गया है। मीराबाई चानू ने 49 किग्रा स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीतकर भारत का खाता खोला दिया। इसी के साथ ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में मेडल का भारत का 21 साल का इंतजार खत्म हो गया। इतना ही नहीं इस जीत के साथ भारत के नाम एक और रिकार्ड दर्ज हुआ और वो था कि भारत ने पहली बार ओलंपिक में पहले दिन कोई पदक जीता है। वहीं दूसरी तरफ हॉकी में भी भारत ने अपना पहला मैच जीतकर अभियान का आगाज किया।

पीएम मोदी ने दी बधाई

टोक्यो ओलंपिक में देश की झोली में पहला पदक दिलाने वाली मीराबाई चानू को पीएम मोदी ने ट्विटर के साथ साथ फोन करके बधाई थी। पीएम मोदी ने बोला आपकी जीत से समूचा देश उत्साहित है और ये जीत हर भारतीय को प्रेरणा देगी। इतना ही नहीं जैसे ही चानू ने जीत का झंडा फहराया वैसे ही उनके घर पर जीत का जश्न मनने लगा। खुद मीराबाई चानू ने बताया कि 5 साल की कड़ी मेहनत का फल आज उन्हें मिल गया है। इसके साथ देश के कई गणमान लोगों ने इस सफलता पर उन्हें बधाई दी।

टोक्यो ओलंपिक की सफर की शुरूआत हो चुकी है और वो भी पदक के साथ जो ये बताती है कि आने वाले दिनो में भारत इस बार कई बड़े इतिहास रच सकता है।