चीन की हर शह पर भारत दें रहा उसे हर बार मात 

कहते है न, एक तो चोरी ऊपर से सीना जोरी। कुछ यही हाल चीन का है, एक तरफ तो अपनी नापाक सोच के चलते वो बार बार भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश करने में लगा है, तो दूसरी तरफ उल्टा आरोप भारत पर लगा रहा है। लेकिन चीन की ये मक्कारी विश्व के सामने चल रही पा रही है, तभी वो तिलमिला रहा है।

चालबाज चीन का एक और झूठ

रेजिंग ला की घटना पर चीन के विदेश मंत्रालय का बयान आया है। चीन ने एक बार फिर झूठ बोला है। चीन के विदेश मंत्रालय ने दावा किया है कि 7 सितंबर को पैंगोंग के दक्षिणी किनारे पर भारतीय सेना ने एलएसी का उल्लंघन किया। भारतीय सेना ने वहां हवाई फायरिंग की। भारत ने LAC का उल्लंघन किया जो दोनों देशों के बीच समझौते के खिलाफ है। चीन ने कूटनीतिक और सैन्य स्तर पर भारत के साथ ये मुद्दा उठाया है। इस तरह की कार्रवाई दोबारा नहीं होनी चाहिए। हालाकि भारत ने चीनी बयान को सिरे से खारिज कर दिया है और साफ साफ बोला है कि चीन भारतीय सीमा पर बुरी नजर डालना बंद करे वरना इसका गंभीर परिणाम उटाने के लिये तैयार रहे। चीन के इस झूठ को विश्व ने भी चालबाजी बताया है खासकर आस्ट्रेलिया और अमेरिका ने चीन के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाया है। इतना ही नही आस्ट्रेलिया ने चीन से अपने 4 रिपोर्टर को भी वतन लौटने का फरमान जारी किया है। जिससे कयास लगाया जा रहा है कि चीन कि छवि विश्व में और धूमिल हो रही है।

चीन का गुरूर फिर चकनाचूर

उधर अपनी हरकतों से ड्रैगन  बाज नहीं आ रहा है। एक बार फिर चीन की सेना ने पैंगोंग झील  के दक्षिण छोर में घुसपैठ की कोशिश की, लेकिन इस बार उसे जबर्दस्त हार का सामना करना पड़ा। पहले से मुस्तैद भारतीय सेना ने ऐसा जवाब दिया कि चीन के सैनिक उल्टे पांव भाग खड़े हुए। 83 दिन के भीतर तीसरी बार चीन को मुंह की खानी पड़ी है। सूत्रों के मुताबिक, सोमवार को भी चीन गलवान की घटना को दोहराना चाहता था। बड़ी संख्या में चीन के सैनिक पहाड़ी की तरफ आ रहे थे। गलवान की तरह ही चीन के सैनिकों के पास कील लगे रॉड और बैट थे पहाड़ी पर पहले से ही मुस्तैद और चौकन्नी भारतीय सेना ने चीन के सैनिकों को सावधान किया। बार-बार चीन के सैनिकों को लौटने के लिए कहा लेकिन चीन के सैनिक लगातार आगे बढ़ते रहे। जब चीनी सैनिक नहीं रुके तब भारतीय सेना ने वॉर्निंग शॉट्स फायर किए लेकिन फायरिंग इस तरह की कि किसी भी चीनी सैनिक को गोली न लगे। भारतीय सैनिकों का आक्रमक रुख देखकर चीन के सैनिक उल्टे पांव भाग खड़े हुए।

लगातार चीन सीमा हो या विश्व के दूसरे हर जगह,चीन भारत से पिट रहा है। हालांकि इसके बावजूद वो पीछे नही हट रहा है, बल्कि भारत को ही हर बात का दोष मढ़ रहा है। लेकिन इस बार भारत ने भी तय कर लिया है कि चीन को सीधा करके ही दम लेगे।