प्रवासी भारतीयों के दिल में भी भारत बसता है

दुनिया में आज भारत का नाम चमक रहा है। इसकी एक वजह तो भारत में तेजी से हो रही प्रगति है लेकिन दूसरी वजह वो प्रवासी भारतीय भी है जो सालो से विदेश में भारत की छवि को मजबूत कर रहे है और ये बताने में लगे है कि भारतीय विश्व में कही भी रहे वो भारत के मूल मंत्र मानवता की सेवा को नही भूलता। शायद पीएम मोदी भी इस बात को जानते है तभी तो आज उन्होने भी प्रवासी भारतीयों के समारोह में बोला कि दुनिया इंटरनेट से जुड़ी पर हमारा मन मां भारती से जुड़ा।

भारत ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में राह दिखाई

पीएम मोदी ने प्रवासी समारोह में साफ बताया कि भारत ही वो देश है जिसने विश्व को आतंक के खिलाफ लड़ने की रह दिखाई है वरना पहले आतंकवाद को लेकर विश्व के अपने अपने मत थे और वो इसे सिर्फ एशिया की समस्या समझते थे लेकिन अब उन्हे समझ में आ गया है कि आतंकवाद न केवल मानवता के दुश्मन है और ये बात समझाने में प्रवासी भारतीयो का भी बढ़ा योगदान रहा है। क्योकि अगर वो विश्व में रहकर ये संदेश नही देते कि भारत शांति और विश्व बंधुत्व पर विश्वास करता है तो इस बात को कोई नही समझ सकता था। इस लिये विदेश में रहने वाले भारतीयों की जितनी तारीफ किया जाये वो कम है।

कोरोना काल में प्रवासी भारतीयों ने की मदद

कोरोना काल के वक्त प्रवासी भारतीयों ने भी बढ़ी भूमिका निभाई थी। विश्व के कोने कोने से इन लोगों ने इस महामारी से कैसे निपटे इसकी जानकारी देश तक अपने रिश्तेदारों तक न केवल पहुंचाया बल्कि इस विपदा के वक्त देश को आर्थिक मदद करके उबारने का काम भी किया कोरोना काल में लगातार भारत ने सही कदम बढ़ाकर कोरोना से चल रही जंग में कोरोना को हराने का काम किया वही दूसरी तरफ विपदा के इस वक्त में आत्मनिर्भर योजना सहित कई और योजनाओ के जरिये देश में जिस तरह से काम किया गया उससे विश्व में भारत की एक ताकतवर छवि उभरकर आई है जिसका फायदा आज विश्व में रह रहे आप जैसे लोगों को हो रहा है। दुनिया आप की तरफ गर्व से देख रही है। जो एक तरह से देश के लिए गौरव की बात है।प्रधानमंत्री ने कहा कि आज भारत करप्शन से लड़ने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके गरीब से गरीब घर में डायरेक्ट ट्रांसफर से पैसे पहुंचाए जा रहे हैं। इसकी चर्चा विश्वभर में है।

जब भारत को आजादी मिली तो दुनिया बोली कि भारत में लोकतंत्र असंभव है और सच ये है कि भारत एकजुट है। दुनियाभर में यदि कोई लोकतंत्र जीवंत है तो वह भारत ही है। इतना ही नही  हमनें दिखाया है नवीकरणीय ऊर्जा के मामले में विकासशील देश भी नेतृत्व कर सकता हैऔर इसी के दम पर आज हमारा लोहा समूचा विश्व मान भी रहा है।

 

Leave a Reply