वैक्सीनेशन के मामले में भारत ने सबको पीछे छोड़ा, महज 5 दिन में एक करोड़ के रिकार्ड को खुद तोड़ा भी

कोरोना वैक्सीनेशन के मामले में भारत हर दिन नई नई ऐतिहासिक इबारत लिखने में लगा हुआ है। इसी क्रम में भारत ने खुद अपना 1 करोड़ वैक्सीनेशन लगाने का रिकार्ड तोड़ा और अगस्त के अंतिम दिन यानी 31 अगस्त 2021 को 1 करोड़ 33 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जो विश्व में अपने आप में एक अनोखा रिकार्ड है।

6 myths about the COVID-19 vaccines — debunked | AAMC

महज 5 दिन में रचा दोबारा 1 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन लगाने का इतिहास

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच भारत में वैक्सीनेशन की गति तेज होती दिख रही है। 5 दिन के अंदर दूसरी बार एक दिन में कोरोना वैक्सीन की 1 करोड़ से ज्यादा डोज लगाई गई है। स्वास्थ्य मंत्री मनुसख मंडाविया ने इसकी जानकारी दी। 5 दिन पहले जहां भारत ने 1 करोड़ 9 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया था तो ठीक 31 अगस्त  2021 को भारत ने 1 करोड़ 33 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण करके खुद अपना ही रिकार्ड तोड़ा। वैसे अगर देखा जाये तो पिछले एक हफ्ते में औसत 74 लाख से अधिक टीका हर दिन लगाये गये है जो टीकाकरण को लेकर भारत की स्पीड को दर्शाता है और ये बताता है कि भारत की टीकाकरण पॉलिसी दूसरे देशों की तुलना में बहुत बेहतर है।

दो अमेरिका के बराबर भारत लगा चुका अपने देश में टीकाकरण

ताजा ऑकड़ो पर नजर डाले तो भारत में 31 अगस्त 2021 तक 65 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन कर दिया गया है। ये अमेरिका की आबादी का दोगना है। यानी भारत ने अभी तक दो अमेरिका के बराबर लोगों का टीकाकरण कर दिया है जो अपने आप में ही एक बड़ा इतिहास है। अगर देखा जाये तो दुनिया में किसी देश ने भी इतनी तेजी से टीकाकरण नहीं कर पाया है। भारत ने सबसे कम समय 114 दिनों में 17 करोड़ कोविड वैक्सीन डोज लगाए। यह एक विश्व रिकॉर्ड है। इतने ही डोज देने में अमेरिका को 115 दिन और चीन को 119 दिन लगे थे जो ये बयां कर रहा है कि भारत एक दिन में दो न्यूजीलैंड के बराबर टीका लगा रहा है तो भारत ने अभी तक दो अमेरिका के बराबर टीकाकरण अपने देश में कर लिया है। इसी तरह हर सप्ताह दो ऑस्ट्रेलिया को टीका लगाया जा रहा है, हर महीने लगभग दो जर्मनी के बराबर टीका लग रहा है। यानी करीब 18 करोड़ से अधिक टीकाकरण कर रहा है। इस स्पीड से अगर भारत कोरोना को हराता गया तो मोदी सरकार ने जो लक्ष्य रखा है कि साल के अंत तक  भारत में करीब 100 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगा दी जायेगी वो जरूर पूरा होगा।

वैसे अगस्त के महीने में भारत के इतिहास में हर बार नही इबारत लिखी जाती है। लेकिन इस साल एक ऐसी इबारत लिखी है जो जनता को महामारी से बचायेगी और देश को दुनिया में विश्व गुरू का लोहा मनवायेगी।