अल्लाह से माफ़ी मांगने वाले ट्वीट पर ट्रोल हो गये इमरान

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दुनियाभर में मौजूद मुस्लिम समुदाय के लोग आज शब-ए-बारात मना रहे हैं। इस मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने देशवासियों से दुआ करने के लिए कहा है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैं दुनियाभर के मुसलमानों से अनुरोध करता हूं कि वे आज रात शब-ए-बारात खासतौर पर नाफिल नमाज के मौके पर अल्लाह से दुआ करें और उनसे क्षमा और आशीर्वाद प्राप्त करें।’ हालांकि ट्रोल होने के बाद घंटे भर के अंदर ही उन्होंने अपने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है।

पाकिस्तान में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 4,322

पाकिस्तान में गुरुवार को कोरोना वायरस के संक्रमण के 248 नए मामले सामने आए हैं। जिसके साथ ही वहाँ कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,322 हो गई है। दो हफ्ते के आंशिक बंद के बाद भी तेजी से फैल रहे वायरस को रोकने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार इस संक्रमण से देश में अब तक 63 लोगों की मौत हो चुकी है जिनमें से पांच की मौत तो एक ही दिन में हुई। अब तक कुल 572 लोग इस वायरस के संक्रमण से मुक्त हुए हैं। वहीं 31 लोगों की हालत नाजुक है।

पर्याप्त अस्पताल नहीं

पंजाब में 2,171, सिंध में 1,036 और खैबर पख्तुनख्वा में 560, गिलगित बाल्टिस्तान में 213, बलूचिस्तान में 212, इस्लामाबाद में 102 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 28 मामले सामने आए हैं। प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को देश की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आगे स्थिति और भी खराब हो सकती है और मरीजों की बढ़ती संख्या से निपटने में हमारे अस्पताल पर्याप्त नहीं होंगे। खान ने लोगों से सामाजिक दूरी बनाए रखने के आधिकारिक दिशा-निर्देश को मानने के लिए कहा है।

पाकिस्तान में नहीं है पूरा लॉकडाउन 

हालांकि इमरान ने पूर्णतया बंद लागू नहीं करने के अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि पांच करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं और अगर इस तरह के कदम उठाए जाते हैं तो ये लोग भूख से मर जाएंगे। इसी बीच प्रधानमंत्री ने ‘एहसास आपात नकद कार्यक्रम’ शुरू किया है जिसके अंतर्गत 14 करोड़ 40 लाख रूपये की राशि कोरोना वायरस संकट की वजह से प्रभावित 1.2 करोड़ परिवारों में वितरित की जाएगी। बायोमेट्रिक सत्यापन के बाद ढाई सप्ताह के दौरान इन गरीब परिवारों में यह राशि वितरित की जाएगी।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •