EMI को लेकर हैं फ्रिकमंद, तो ये खबर दूर करेगी आपकी टेंशन

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना संकट से पस्त हो रही इकोनॉमी को बूस्ट देने के लिए वैसे तो सरकार ने 20 लाख करोड़ रूपये का एक महा पैकेज जारी किया है। लेकिन इसके साथ साथ RBI ने भी लोगों पर पड़ रहे आर्थिक बोझ को कम करते हुए बड़ी राहत दी है। कोरोना सकंट के दौरान तीसरी बार RBI ने रेपो रेट को घटा दिया है। जिससे कर्ज सस्ता होगा और नगदी आम लोगों के पास ज्यादा बचेगी। RBI के आज के फैसले से और क्या क्या होगा फायदा चलिये जानते हैं।

रिवर्स रेपो दर में कटौती

लॉकडाउन 4.0 में है देश और इनकम लॉस होने की वजह से परेशानियां सर चढ़कर बोल रही है। क्योंकिदेश में लगभग 50 दिन से ज्यादा से कामकाज बिल्कुल ठप पड़ा हुआ है। लेकिन अब आम जनता को इस बारे में ज्यादा सोचने की जरूरत नही है सरकार की मदद के बाद अब आरबीआई से भी राहत भरी खबर ही आई है। जिसके चलते एक बार फिर से आरबीआई ने  लॉकडाउन पीरियड में रेपो रेट घटाया है। रेपो रेट में 0.4 फ़ीसदी की कटौती का ऐलान किया है। इस कटौती के बाद रेपो रेट 4.4 फीसदी से घटकर 4 फीसदी हो गया है। इससे बैंकों को रिजर्व बैंक से कम ब्याज दर पर लोन मिलेगा जिससे उनके फंड जुटाने की लागत कम होगी। इसका फायदा ग्राहकों को होगा क्योंकि उन्हें सस्ता कर्ज दे सकते हैं। यानी रेपो रेट कम होने से आपके लिए होम, कार या पर्सनल लोन पर ब्याज की दरें कम हो सकती है।

 

EMI देने वालों को 3 महीने की फिर मिली छूट

जो लोग हर वक्त यही सोच में लगे हैं कि वो अपनी EMI  कैसे भरेंगे तो उनके लिये राहत की खबर है क्योंकि आरबीआई ने ऐसे लोगों को तीन महीने की मोहलत और दे दी है यानी मोरटोरियम 1 जून से 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया गया है। इससे आपको और तीन महीने के लिए लोन की किस्त टालने का ऑप्शन मिल गया है। ऐसे में ये बड़ी राहत है क्योंकि इससे लोगों के हाथ में नगदी बनी रहेगी जो एक अच्छा संकेत है।

लगातार गिर रही है महंगाई दर

कोरोना संकट के बीच सबसे अच्ची खबर ये देखने को मिल रही है कि देश में मंहगाई पर नकेल कसी हुई है तभी तो लॉकडाउन के बाद भी देश में मंहगाई अपना विकराल रूप नही दिखा पा रही है। इसके पीछे सरकार की कुशल नीति तो है ही साथ में आरबीआई द्वारा जारी कई तरह की छूट भी है ऐसा इसलिये भी हो रहा है क्योंकि कोराना को ध्यान में रखते हुए हम बहुत पहले से तैयार हो गये थे। जिसकी झलक अब दिख रही है।

मतलब साफ है कि आम लोगों की परेशानी ज्यादा न बढ़े इसको सरकार और आबीआई दोनो ध्यान में रखकर कदम उटा रहे हैं। वैसे भी हमारे पीएम मोदी जी ने पहले ही बोला था कि पहले वो जान बचाएंगे और उसके बाद जहान को, इस काम को पूरा करने में वो और उनके साथी पूरी तरह से जुटे हुए भी हैं। जिसका असर जमीन पर दिखने भी लगा है। कयास ये भी लगया जा रहा है कि आने वाले दिनो में आरबीआई और भी छूट दे सकती है जिसका फायदा सीधे आम जन तक पहुंचेगा।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply