पाक से आ रहा विमान भारत में घुसा, सुखोई के चुनौती के बाद जमीन पर

 

379513-plane

शुक्रवार दोपहर को यूक्रेन का एक कार्गो एयरक्राफ्ट पाकिस्तान से भारतीय सीमा में तय रूट से हटकर गैर आधिकारिक एयर रूट से घुस आया। हालाँकि विमान को भारतीय एयर स्पेस में घुसते ही उसे इंटरसेप्ट कर लिया गया| लेकिन, बार-बार एयरकॉल और चेतावनी के बाद जब कोई जवाब नहीं आया तो दो सुखोई लड़ाकू विमान उड़ान भरने के लिए तैयार हो गए और एयर डिफेंस सिस्टम को एक्टिव कर दिया गया।

जोधपुर से उड़े दो सुखोई एमकेआई-30 लड़ाकू विमान ने इसे घेड़ लिया| लिहाजा, मजबूरन उसे एयरक्राफ्ट की जयपुर में लैंडिंग करवानी पड़ी| जिसके बाद करीब तीन घंटे तक उस विमान की जांच की गयी| जांच के दौरान पता चला कि विमान में इंडियन डिफेंस का सामान है। विमान में पायलट, को-पायलट सहित 8 लोग मौजूद थे। क्लीयरेंस मिलने के बाद रात 8:03 बजे इसे दिल्ली रवाना कर दिया गया। इससे पहले केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल ने जयपुर हवाई अड्डे की घेराबंदी कर ली थी।

बता दें कि शुक्रवार दोपहर 3 बजकर 15 मिनट पर एंटोनोव-12 कारगो एयरक्राफ्ट उत्तर गुजरात सेक्टर में कच्छ एयरबेस से 70 किलोमीटर की दूरी पर भारतीय एयरस्पेस में घुसा। विमान ने अधिकृत एयर ट्रैफिक सर्विसेज (एटीएस) रूट का पालन नहीं किया था, इसके बाद भारतीय एजेंसियां एक्टिव हो गई। पहले रेडियो कॉल के जरिए एयरक्राफ्ट से संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन उधर से कोई जवाब नहीं आया।

इस पूरे प्रकरण पर भारतीय वायुसेना के अधिकारियों का कहना है कि यूक्रेन का एंटोनोव-12 कारगो एयरक्राफ्ट भारतीय सीमा में 27 हजार फीट की ऊंचाई पर था। पहले उनसे संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन जब जवाब नहीं दिया गया। तब सुखोई की दो लड़ाकू विमानों ने चुनौती दी तो पायलट ने जवाब दिया।

सुखोई की दो लड़ाकू विमानों द्वारा चुनौती दिए जाने के बाद जब पायलट ने जवाब देना शुरू किया| तो पायलट ने बताया कि एंटोनोव-12 कारगो एयरक्राफ्ट कराची के रास्ते दिल्ली के लिए त्बिलिसी (जॉर्जिया) से आया था। जब ये जवाब आया| उस वक़्त एयरक्राफ्ट जयपुर से 60 किलोमीटर की दूरी पर था, उसे तुरंत जयपुर में लैंडिंग करने के लिए कहा गया।

इस सन्दर्भ में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त लक्ष्मण गौड़ ने बताया कि पाकिस्तान से आए जॉर्जिया के कारगो एयरक्राफ्ट में कुछ भी संदिग्ध नहीं पाया गया, एयरक्राफ्ट को जल्द ही उड़ान भरने की अनुमति दे दी गई। उन्होंने कहा कि विमान ने उड़ान के दौरान हवाई सीमा का मामूली उल्लंघन किया था।