कोरोना वैक्सीन  कैसे पहुंचेगी आप तक, इसके लिये सरकार ने जारी की गाइडलाइंस

देश में कोरोना के घटते मामलों के बीच अब वैक्सीन  के वितरण के लिए तैयारी तेज हो गई है। करीब एक साल तक कोरोना वायरस  के संक्रमण से जूझने के बाद अब भारत की जनता तक बहुत ही जल्द  कोरोना वैक्सीन पहुंचने वाली है। ऐसे में स्वास्थ मंत्रालय ने लोगों को कोरोना वैक्सीन पहुंचाने के लिए गाइडलाइंस जारी की है।

वैक्सीन लगाने के लिए देश भर में बनाए जाएंगे बूथ

इस गाइडलाइंस के मुताबिक कोरोना वैक्सीन  देने के लिए देश भर में बूथ बनाए जाएंगे। हर बूथ पर एक टीम का गठन होगा, जो चार स्तर पर काम करेगी। पहले ग्रुप में डॉक्टर्स और नर्सेज होंगी जो लोगों को वैक्सीन देंगे। दूसरे ग्रुप में पुलिस होम गार्ड और एनसीसी जैसे सिक्योरिटी वॉलंटियर्स होंगे। तीसरे ग्रुप में लोगों के कागजों की जांच करने वाले लोग शामिल होंगे वहीं चौथे ग्रुप के लोग भीड़ नियंत्रण का ध्यान रखेंगे।

सिलेक्शन लिस्ट में शामिल लोगों को लगेगा टीका

खास बात ये कि इन बूथों पर वैक्सीन  सिर्फ उन्हीं लोगों को लगेगी, जिनका सिलेक्शन लिस्ट में नाम आया होगा। प्रत्येक बूथ पर केवल 100 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। गाइडलाइंस में इस बात का भी प्रावधान कर दिया गया है कि पहले किन्हें कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी इसी प्राथमिकता सूची के आधार पर बारी-बारी से लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी।

भारत में संक्रमितों की रफ्तार हुई धीमी

भारत में कोरोना  मामलों की कुल संख्या बढ़कर 98 लाख 57 हजार 29 हो गई है। इनमें से 93 लाख 57 हजार 464 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं। वहीं 3 लाख 56 हजार 546 लोग अब भी एक्टिव मरीज हैं। देश में कोरोना से अब तक 1 लाख 43 हजार 19 लोगों की जान जा चुकी है। राहत की बात ये है कि देश में कोरोना का रिकवरी रेट 95 प्रतिशत चल रहा है, जबकी मृत्यु दर 1.45 प्रतिशत है। देश में एक्टिव मरीजों की दर 4 प्रतिशत है। जिससे ये कहा जा सकता है कि कोरोना से जंग में भारत धीरे धीरे जीत की तरफ बढ़ रहा है।

कुलमिलाकर कैसे देश के लोगो को वैक्सीन मिले और कैसे इस महामारी से आम लोगो को राहत मिले इसके लिये स्वास्थ्य विभाग लगातार योजना पर योजना बना रहा है। जिसकी सारी जानकारी सीधे देश के प्रधान मोदी जी ले रहे हैं. ताकी कोई खाई न रह जाये क्योंकि मोदी सरकार ने पहले ही ऐलान किया है कि देश को जल्द से जल्द इस बीमारी से निजात दिलाया जायेगा। वैसे कोरोना से निपटने में जैसा रोल मोदी सरकार ने निभाया है उसका ही असर है कि आज देश में जान और जहान दोनो ही बच सके हैं।