कश्मीर से आई दिल खुश कर देने वाली तस्वीर, तिरंगे की रौशनी से नहाया श्रीनगर का लालचौक

धारा 370 खत्म होने के बाद से ही कश्मीर से जो पिछले 2 साल से तस्वीर सामने आ रही है। वो उन लोगों के मुंह पर जोरदार तमाचा है जो इस धारा को हटाने के खिलाफ थे। एक वक्त ऐसा था जब श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने से विवाद हो जाता था। वहीं अब 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस से पहले लाल चौक घंटाघर तिरंगे की रोशनी से नहाए हुए है।

Srinagar s Lal Chowk illuminated with tricolor a big change was seen after  the removal of Article 370 - तिरंगे रंग से रोशन हुआ श्रीनगर का लाल चौक,  आर्टिकल 370 हटने के

कश्मीर से आई बदलाव की एक और तस्वीर

याद कीजिये उस वक्त को जब कश्मीर के श्रीनगर के लालचौक पर 15 अगस्त और 26 जनवरी को सिर्फ इसलिये कड़ी सुरक्षा कड़ी कर दी जाती थी कि कही तिरंगा लगाने को लेकर घाटी में विवाद ना खड़ा हो जाये। हर तरफ उस वक्त सिर्फ दहशत का माहौल रहता था। लेकिन जब से धारा 370 का खात्मा हुआ है तब से कश्मीर में भी आजादी का जश्न हो या फिर गणतंत्र दिवस की खुशियां दोनो ही दिल खोल के बनाई जाने लगी है। लेकिन इस बार का 15 अगस्त से पहले जिस तरह से लालचौक को तिरंगे की रौशनी में नहा रहा है ये देश के करोड़ो भारतीयों को एक अलग सा सुकून मिला होगा। क्योकि ये तस्वीर साफ बता रही है कि कश्मीर अब पूरी तरह से अमन के रास्ते पर चल रहा है और तिरंगा आज कश्मीरियों के दिल में बस गया है।

अनुच्छेद 370 की सालगिरह पर लाल चौक में भाजपा नेता ने फहराया तिरंगा । BJP  Leader Hoists Tricolor in Lal Chowk to Mark Anniversary of Article 370  Abrogation– News18 Hindi

सरकार पर भरोसे का है ये विश्वास

आजादी के बाद जिस कश्मीर में हमेशा बम बारूद के धमाको से गूंजा करता था वो एकाएक इतना कैसे बदल गया ये सवाल जरूर लोगों के मन में आता होगा। लोगों के जेहन में आये इस सवाल का बस एक ही जवाब है वो है, आज सरकार के प्रति आम लोगों का भरोसा बढ़ गया है। खासकर पिछले 2 साल से जब से धारा 370 हटी है तब से ही जिस तरह से केंद्र के दिशानिर्देश में कश्मीर में विकास किया जा रहा है। उससे वहां के आम लोगों अच्छी तरह से समझ चुके है कि अगर राज्यो को आगे बढ़ना है तो पुरानी सोच को बदल कर मोदी जी की नई सोच के साथ ही चलना होगा। तभी तेजी से राज्य बदल सकता है और आज ये देखा भी जा रहा है। आज घाटी के आखरी गांव तक सड़क पहुंच चुकी है तो रोजगार के अवसर आज पहले के मुकाबले बहुत ज्यादा आ चुके है। नये एम्स और मेडिकल कॉलेज बन रहे है जो ये विश्वास पैदा कर रहे है कि दिल्ली और दिल की दूरी दोनो खत्म हो चुकी है।

लाल चौक पर तिरंगा के रंग में रौशन ये तस्वीर इसकी शुरूआत है और उन लोगों के मुंह में एक तमाचा जो ये बोलते है कि कश्मीर की आवाम अपने आपको सिर्फ कश्मीरी समझती है। क्योंकि ये साफ हो गया है कि उनके दिल में भी भारत ही बसता है।