बनारस के हैल्थ वर्करो ने पीएम मोदी के सामने वैक्सीन को लेकर फैले भ्रम को किया दूर

वैक्सीन को लेकर जिस तरह से भ्रम कुछ लोगो ने देस में फैलाया आज पीएम मोदी ने उसे दूर करने के लिये अपनी संसदीय इलाके बनारस के उन लोगो से बात की जिन हैल्थ वर्करों ने वैक्सीन लगवाई है। उन लोगो ने पीएम के सामने वैक्सीन लगवाने से लेकर अभी तक के अनुभव को साझा किया और इस भ्रम को दूर किया की वैक्सीन लगवाने से किसी तरह का नुकसान हो सकता है

हमने वो किया जो वैज्ञानिको ने बोला – मोदी

बनारास में हैल्थ वर्करों से बात करते हुए पीएम मोदी ने साफ बोला कि कोरोना वैक्सीन को लेकर कई बाते पहले हुआ करती थी हमारे विरोधी भी हर वक्त वैक्सीन को लेकर सवाल पूछा करते थे लेकिन हमने ये साफ कर दिया था कि वैक्सीन को लेकर जो भी कदम उठाना है वो हमारे वैज्ञानिको को उठाना है जो वो बतायेगे हम उसी को मानेगे और उसी का परिणाम है कि भारत ने एक नही दो दो मेक इन इंडिया वैक्सीन बनाकर दुनिया को दिखाया है इसी लिये आज के वैज्ञानिको आधुनिक समय के ऋषि है जो मानव समाज की रक्षा के लिये लगातार शोध करते रहते है जिससे मानव समाज का बेहतर होता रहे।

सिद्धि का नतीजा है ये अभियान – मोदी

पीएम ने बोला “2021 की शुरुआत बहुत ही शुभ संकल्पों से हुई है। काशी के बारे में कहते हैं कि यहां शुभता सिद्धि में बदल जाती है। इसी सिद्धि का परिणाम है कि आज विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान हमारे देश में चल रहा है। दो मेड इन इंडिया वैक्सीन भारत में तैयार हुई हैं. इस मामले में भारत ना सिर्फ पूरी तरह से आत्मनिर्भर है बल्कि कई देशों की मदद भी कर रहा है।”

हैल्थ वर्कर रानी ने बताया टीका लगाने पर मिलता है आशीर्वाद

जिला महिला अस्‍पताल में ही एएनएम के पद पर कार्यरत रानी कुंवर टीकाकरण अभियान में शामिल हैं। उनसे पीएम मोदी ने पूछा कि एक दिन में कितने लोगों को वैक्‍सीन देती हैं तो उन्‍होंने कहा कि डेली करीब 100 लोगों को टीका लगता है। जब रानी ने टीकाकरण अभियान का क्रेडिट पीएम मोदी को दिया तो उन्‍होंने कहा कि इसका क्रेडिट ‘वैज्ञानिकों और आप जैसे हेल्‍थ वर्कर्स को जाता है।’ पीएम के पूछने पर रानी ने कहा कि वे जब टीका लगाती हैं तो उन्‍हें ‘खूब आशीर्वाद मिलता है।’ पीएम ने कहा कहा कि ‘कोई भी वैक्सीन बनाने के पीछे वैज्ञानिकों की मेहनत और वैज्ञानिक प्रक्रिया होती है। मेरे ऊपर राजनैतिक दबाव भी बनाया गया लेकिन मैंने कहा, इस मामले में वैज्ञानिक सब तय करेंगे।’

फिलहाल जिन लोगों ने अभी तक टीका नही लगवाया उन लोगों में वैक्सीन को लेकर भ्रम अब खत्म हो गया होगा क्योकि भारत की दोनो वैक्सीन का नतीजा भी बेहतर आ रहा है। तभी हर रोज वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या में अब इजाफा भी देखा जा रहा है। आलम ये है कि अब तो विश्व के लोग भी भारत की वैक्सीन को लेकर इतंजार कर रहे हैं।