जापान में हगिबिस चक्रवातीय तूफान की तबाही के बाद राहत-बचाव कार्य हुआ तेज, पीएम मोदी ने जापान को की मदद की पेशकश

Hagibis storm | PC - Google

जापान में प्रचंड तूफ़ान हगिबीस का कहर अब थम चूका है और बर्बादी के दृश्य दिखने लगे है। जापान में भीषण तूफान हगिबीस ने शनिवार को दस्तक दी। जापान में इस तूफान ने भयंकर तबाही मचाई है और कई लोगों को अपने चपेट में ले चुका है। इस तूफान के चलते 50 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। साथ ही 200 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं।

Hagibis storm affects bullet train in japan | PC - Google

तूफान के आने से पहले ही इसके प्रभाव के चलते मूसलाधार बारिश हुई और तेज हवाएं चलीं। बारिश की वज़ह से 20 नदियों में उफान से आठ प्रान्तों में सबसे जायदा तबाही हुई है। लोगो को रेस्क्यू करने के लिए 1.10 लाख लोग जुटे है। जापान मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार तूफान ने पहले मुख्य होंशू द्वीप पर दस्तक दी। इसके बाद यह तोक्यो से दक्षिण पश्चिम एक प्रायद्वीप इजू की ओर मुड़ गया। तूफान की वजह से तोक्यो क्षेत्र में सभी उड़ानें रोक दी गयीं थी और रेल यातायात पर भी असर पड़ा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान में भयंकर तूफान ‘हगिबिस’ में लोगों की मौत पर रविवार को शोक जताया और भारतीय नौसेना कर्मियों द्वारा बचाव अभियानों में मदद करने की पेशकश की। पीएम मोदी ने कहा है कि वो इस प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान और तबाही से जल्द ठीक होने की कामना करते हैं। पीएम ने कहा कि भारत इस मुश्किल घड़ी में जापान के साथ एकजुटता से खड़ा है और हर मुमकिन मदद के लिए तैयार है।

मोदी ने जापानी और अंग्रेजी भाषा में किए सिलसिलेवार ट्वीट्स में कहा, ‘‘ मैं जापान में शक्तिशाली तूफान हगिबिस के कारण लोगों की मौत पर सभी भारतीयों की ओर से शोक व्यक्त करता हूं। मैं कामना करता हूं कि इस प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान और तबाही की भरपायी जल्द हो।’’ मोदी ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि जापान के लोग अपनी तैयारी और जुझारू क्षमता तथा प्रधानमंत्री शिंजो आबे के नेतृत्व की बदौलत इस आपदा के असर से प्रभावी तथा तेजी से निपटने में सक्षम होंगे। मोदी ने आबे को अपना मित्र बताया।