कोरोना के नए वैरिएंट से निपटने के लिये सरकार ने कसी कमर, जारी की विदेश से आने वालों के लिए नई गाइडलाइंस

कोरोना के नये वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर भारत मुस्तैद हो गया है जिसके चलते भारत 12 देशों से आने वाले लोगों को होम क्वारंटाइन होने का निर्देश दिया है। इसके साथ साथ सरकार ने राज्य सरकारों से भी पहले से ज्यादा तेजी के साथ कोरोना पर सजगता बनाये रखने के लिये बोला है। इतना ही नहीं हालात को देखते हुए नई दिशानिर्देश भी जारी किये गये है।

सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के खतरे को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका समेत अत्यधिक जोखिम वाले 12 देशों से आने वाले प्रत्येक यात्री के लिए सात दिन के होम क्वारंटाइन को अनिवार्य बना दिया है। इन देशों से आने वाले यात्रियों की हवाई अड्डे या प्रवेश स्थल पर आरटी-पीसीआर जांच कराई जाएगी। जांच रिपोर्ट आने तक उन्हें वहीं इंतजार करना होगा। निगेटिव रिपोर्ट आने पर भी सात दिन होम क्वारंटाइन रहना होगा। पाजिटिव आने वाले यात्रियों के नमूने को जीनोम सीक्वेंसिंग जांच के लिए नमूने भेजे जायेगे। दिशानिर्देशों के मुताबिक सभी देश के लोगों को भारत आने से पहले ऑनलाइन एयर सुविधा पोर्टल पर अपनी पिछली 14 दिन यात्रा संबंधी विस्तृत जानकारी भरनी होगी। 72 घंटे के भीतर की निगेटिव कोरोना आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट अपलोड करनी होगी। रिपोर्ट की सत्यता की पुष्टि करते हुए स्व-घोषित फार्म भरना होगा, जिसके गलत पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू की जाएगी।

पीएम मोदी ने लोगों से सजग रहने की करी अपील

कोरोना के इस नए वैरिएंट को लेकर जहां पीएम मोदी ने सरकार के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक करके नई रणनीति तैयार की तो दूसरी तरफ आम लोगों से भी अपील करते हुए बोला कि कोरोना अभी गया नही है। ऐसे में देशवासी एहतियात जरूर बरते और जिन लोगों ने टीका अभी तक नहीं लगवाया है वो जल्द से जल्द टीकाकरण करवाये। इसी तरह शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले भी पीएम ने कोरोना को लेकर सभी को एक साथ मिलकर लड़ने का आह्वान किया।

वैसे देखा जाये तो सरकार ने कोरोना के इस नये वैरिएंट को लेकर अभी से कमर कसते हुए जंग छेड़ दी है। लेकिन सरकार के साथ साथ इस जंग में हमें भी सचेत रहना होगा जिससे कोरोना को पूरी तरह से हराया जाये।