सरकार ने किया फैसला कोविन ऐप के जरिए प्राइवेट अस्पतालों को मिलेगी वैक्सीन

कोरोना महामारी से निपटने के लिए टीकाकरण की रफ्तार को तेज करने के प्रयास जारी हैं। इस बीच, केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अगले तीन दिनों के अंदर कोरोना वैक्सीन की 24 लाख से ज्यादा डोज मिल जाएंगी। वही प्राइवेट अस्पताल अब सीधे वैक्सीन नहीं खरीद पायेंगे।

अब सीधे वैक्सीन नहीं खरीद पाएंगे प्राइवेट अस्पताल

वहीं, वैक्सीनेशन अभियान में तेजी लाने के बीच केंद्र सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है. केंद्र ने निजी अस्पतालों की तरफ से सीधे कंपनियों से वैक्सीन खरीदने पर रोक लगा दी है। केंद्र की तरफ से कहा गया है कि अब टीके की खरीद के लिए एक लिमिट तय की जाएगी। केंद्र की तरफ से कहा गया है कि अब वैक्सीन का ऑर्डर वैक्सीनेशन के कोविन ऐप के जरिए ही देना होगा। केंद्र के नए नियमों के मुताबिक, एक हफ्ते में किसी अस्पताल ने जितना वैक्सीनेशन किया है, उससे उसका डेली का औसत निकालकर उसे वैक्सीन बांटी जाएगी। इससे अब प्राइवेट अस्पताल लगाई जा रही वैक्सीन के औसत नंबर की दोगुनी मात्रा में ही वैक्सीन खरीद पाएंगे।

राज्यों को मिलेंगी कोरोना वैक्सीन की 24 लाख डोज

बहरूपिये कोरोना को अगर हराना है तो देश में तेजी के साथ टीकाकरण करना होगा और इसी के चलते देश के राज्यो में पर्याप्त वैक्सीन पहुंचे इसकी भी तैयारी की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय  की माने तो 24,65,980 से ज्यादा वैक्सीन डोज पाइपलाइन में हैं और अगले तीन दिनों के भीतर राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को मिल जाएंगी। इसके साथ साथ सरकार की माने तो  राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी कोविड वैक्सीन की 73,00,166 करोड़ डोज उपलब्ध हैं, जिन्हें लोगों को लगाया जाना है। इसी के साथ, मंत्रालय ने ये भी बताया कि भारत सरकार की तरफ से सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को फ्री में या सीधे खरीद के जरिए कोरोना वैक्सीन की अब तक 32,13,75,820 डोज दी जा चुकी हैं, जिनमें बर्बादी समेत कुल खपत 31,40,75,654 है। वहीं, पिछले 24 घंटों में देशभर में कोरोना वैक्सीन की 36,51,983 डोज दी गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा बढ़कर 33,28,54,527 हो गया है।

टीकाकरण अभियान के लिए कई योजनाओं पर किया जा रहा काम

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि टीकाकरण अभियान को और भी सफल बनाने के लिए, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कई योजनाओं पर काम किया जा रहा है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में, भारत सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराके उन्हें समर्थन देने में लगी हुई है। 21 जून से देशभर में टीकाकरण का नया चरण शुरू किया गया है, जिसके तहत 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को केंद्र सरकार की तरफ से वैक्सीन मुफ्त में दी जा रही है।

पहले केंद्र सरकार ने टीकाकरण का सारा भार अपने ऊफर लेकर ये साफ कर दिया था कि राज्य सरकार अब इस बाबत कोताही नही बरत सकती है तो अब प्राइवेट अस्पतालों को कोविन के जरिये वैक्सीन खरीदने का ऐलान करके एक और पारदर्शिता भरा कदम उठाया है जिससे कोई भी ये आरोप ना लगा सके कि सरकार वैक्सीन देने में भेदभाव कर रही है।