सरकारी कर्मचारियों के लिये खुशखबरी सरकार ने महंगाई भत्ते को फिर से किया बहाल

लंबे समय से महंगाई भत्ते यानी DA  का इंतजार कर रहे केंद्रीय कर्मचारियों के लिये अच्छी खबर आई है। क्योंकि मोदी कैबिनेट ने महंगाई भत्ते में इजाफा कर दिया है। जिसके चलते अब केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्‍ता बहाल करते हुए 17 फीसदी से 28 फीसदी किया। गौरतलब है कि कोविड-19 महामारी के कारण सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के डीए और पूर्व कर्मचारियों के महंगाई भत्ते पर  रोक लगा दी थी।

DA को कैबिनेट की हरी झड़ी

बढ़ती महंगाई के बीच मोदी कैबिनेट ने सरकारी कर्मचारियों को बहुत बड़ी राहत दी है क्योंकि सरकार ने महंगाई भत्ते में इजाफा किया है। सरकार ने ये इजाफा 17 फीसदी से 28 फीसदी तक कर दिया है। जिसके बाद करीब 50 लाख से अधिक कर्मचारियों और 61 लाख पेंशनर्स को फायदा होगा। इससे पहले जेसीएम यानी ज्वाइंट कंसल्टेटिव मशीनरी की नेशनल काउंसिल की 26 जून को अधिकारियों के साथ एक मीटिंग हुई थी। इसमें सातवें वेतन आयोग के तहत महंगाई भत्ते के बकाया  के भुगतान पर फैसला लिया गया। केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों के महंगाई भत्ते की तीन किस्तों का भुगतान नहीं हुआ है। मीटिंग में तय हुआ है कि कर्मचारियों को बकाया समेत सारी किस्तों का भुगतान सितंबर महीने में किया जाएगा।

कोरोना संकट के वक्त मोदी सरकार कर रही सबकी मदद

कोरोना काल के चलते भी लगातार मोदी सरकार देशवासियों को आर्थिक मदद देने में जुटी हुई है। जहां सरकार ने पहली और दूसरी लहर में प्रवासी मजदूरों के लिए फ्री अनाज दिया। जिसके बाद देश के छोटे कारोबारियों को राहत देते हुए उन्हे MSME में शामिल करके लोन लेने और कई तरह की सुविधा प्रदान की। इसके बाद अब पीएम ने सरकारी कर्मचारियों को महंगाई भत्ता बहाल करके कहीं न कहीं बहुत बड़ी आर्थिक मदद दी है। तो उन लोगों के मुंह में एक तमाचा भी लगाया है जो ये बोलते आये हैं कि सरकार बढ़ती महंगाई के बीच में आम लोगों की किसी तरह से मदद नहीं कर रही है।

फिलहाल नई कैबिनेट की दूसरी बैठक में एक बार फिर सरकार ने राहत भरी खबर सुनाई है जिससे ये साफ होता है कि सरकार लगातार एक तरफ कोरोना से जंग लड़ने के लिये रणनीति बना रही है तो दूसरी तरफ देश की जनता को उससे हुआ आर्थिक नुकसान की भरपाई करने में भी जुटी है।