रफ्तार के शौकीनों के लिए खुशखबरी, महज 45 मिनट में पहुंचेगे दिल्ली से मेरठ

दिल्ली से मेरठ जाने वालो के लिए अप्रैल का महीना खुशिया लेकर आ रहा है, कारण मेरठ से दिल्ली सफर करने वाले अब रफ्तार के साथ सफर कर सकेंगे और उन्हे जाम से दो चार नहीं होना पड़ेगा। क्योकि काफी लंब समय से दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस के खुलने का इंतजार अब खत्म हो गया है। करीब 45 मिनट में ही अब आप दिल्ली से मेरठ पहुंच जाएंगे। एक अप्रैल को एनएचएआई इसे पब्लिक के लिए खोलने की तैयारी कर लिया है।

महज 30 मिनट में तय होगी गाजियाबाद और मेरठ की दूरी

इस एक्सप्रेसवे के खुल जाने के बाद हजारों यात्रियों को रोज यात्रा में सुविधा मिलेगी। दिल्ली और मेरठ के बीच दूरी मात्र 60 मिनट में तय होगी तो गाजियाबाद और मेरठ के बीच यात्रा का समय सिर्फ 30 मिनट का होगा। सबसे ज्यादा खुशी की बात है कि फिलहाल इस एक्सप्रेसवे को टोल टैक्स फ्री रखा गया है। टोल के अलावा छोटे-मोटे सुरक्षा के मानक वाले काम किए जा रहे हैं। अधिकारी बताते हैं कि एक दिन के भीतर इसे भी पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद पब्लिक के लिए इसे खोल दिया जाएगा। फिलहाल पब्लिक आवागमन अभी से जारी है। लेकिन एनएचएआई ने औपचारिक रूप से पब्लिक के लिए डासना से मेरठ वाले हिस्से को नहीं खोला है। ईपीए और डीएमआई के मिलने वाले स्थान पर बनाए गए क्लोवर लीफ को भी पूरा कर दिया गया है। एक अप्रैल से यहां पर लगाए गए बैरियर को हटा दिया जाएगा।

Delhi Meerut Expressway 20,000 people of Noida and Ghaziabad get relief after open underpass Common Man Issues

सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरों से होगी निगरानी

एनएचएआई ने पहले चरण में निजामुद्दीन से यूपी गेट तक 15 सीसीटीवी कैमरे लगा दिए हैं। यूपी गेट से डासना तक के दूसरे चरण में 30 कैमरे लगाए जा रहे हैं। डासना से मेरठ तक चौथे चरण के हिस्से में 35 सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। कुछ खास ब्लैक स्पाट एवं अंडरपास के आसपास भी कैमरे लगाए जा रहे हैं।दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस के अधिकांश हिस्से में साइनबोर्ड लगाए जाने का काम पूरा किया जा चुका है। साथ ही पैनिक बटन लगाया जा चुका है जिससे यदि किसी को एक्सप्रेसवे पर किसी प्रकार की जरूरत हो तो इसका प्रयोग करके मदद मांगी जा सकती है।

यानी अब मेरठ और दिल्ली का फासला महज कुछ मिनटो में ही पूरा हो जायेगा जो नये भारत की एक और दमदार छवि पेश कर रहा होगा।