आज से आप ‘तुलसी भाई’ कहलाएंगे, पीएम मोदी ने WHO चीफ टेड्रोस को दिया नया नाम

यूँ ही नही पीएम मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता बन गये है। उसके पीछे का कारण ये है कि पीएम मोदी दुनिया के हर देश के नेता का दिल जीतते है, ना कि उनसे सिर्फ एक देश की तरह रिश्ता बनाते है। कुछ ऐसा ही देखा गया आज गुजरात में जब पीएम मोदी ने स्वास्थ्य संगठन के निदेशक टेड्रोस गेब्रेयसस को ‘तुलसी भाई’ का एक नया नाम दिया।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के निदेशक टेड्रोस का भारत में लिया नया नाम

पीएम मोदी ने अपने अतिथियों का स्वागत पूरे जोश खरोश के साथ करते है। इसका एक उदाहरण आज गुजरात के कार्यक्रम के दौरान देखा गया। जब पीएम मोदी ने मोदी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के निदेशक टेड्रोस गेब्रेयसस को ‘तुलसी भाई’ नाम दिया है। यह गुजराती नाम है। उन्होने इस बाबत बोला कि ये नाम भारत द्वारा दिया गया उनको सम्मान है। इससे पहले गुजरात के जामनगर में डब्ल्यूएचओ ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन के उद्घाटन के दौरान WHO प्रमुख ने संबोधन की शुरुआत गुजराती से की थी। सबसे पहले उन्होंने हाथ जोड़कर नमस्कार किया। इसके बाद गुजराती में लोगों से पूछा ‘केम छो’?  इसके बाद जब लोगों ने इसका जवाब दिया तो उन्होंने भी “मजा मा’ बोला।

जामनगर में WHO केंद्र की स्थापना नए युग की शुरुआत: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इससे मंगलवार को कहा कि यहां डब्ल्यूएचओ वैश्विक पारंपरिक चिकित्सा केंद्र (जीसीटीएम) की स्थापना से विश्व में पारंपरिक चिकित्सा के युग की शुरुआत होगी। मोदी और गेब्रेयेसस के बीच बैठक भारत द्वारा देश में कोविड-19 से संबंधित मौतों की संख्या का अनुमान लगाने संबंधी डब्ल्यूएचओ की कार्यप्रणाली पर आपत्ति जताए जाने के कुछ दिनों बाद हुई। मोदी ने इस अवसर पर कहा, ”जब भारत अभी अपनी स्वतंत्रता के 75वें वर्ष का जश्न मना रहा है, इस केंद्र के लिए यह शिलान्यास समारोह अगले 25 वर्षों के दौरान दुनिया में पारंपरिक चिकित्सा के एक नए युग की शुरुआत का प्रतीक है।”

औषधीय पौधे उगाने में लगे किसानों को बाजार से आसानी से जुड़ने की सुविधा मिले

पीएम मोदी ने कहा कि यह बहुत जरूरी है कि औषधीय पौधे उगाने में लगे किसानों को बाजार से आसानी से जुड़ने की सुविधा मिले। इसके लिए सरकार आयुष ई-मार्केटप्लेस के आधुनिकीकरण और विस्तार पर भी काम कर रही है। हम एक विशेष आयुष चिह्न बनाने जा रहे हैं। यह चिह्न भारत में बने उच्चतम गुणवत्ता वाले आयुष उत्पादों पर लागू होगा।

वैसे पीएम मोदी ने जो कहा वो बिलकुल ठीक ही तो है भारत युगों से दुनिया को निरोग करता चला आ रहा है और आगे भी करता आयेगा। यही तो भारत की संस्कृति का संस्कार है।