आतंकवाद पर वैश्विक सम्मलेन के मोदी के प्रस्ताव का फ़्रांस ने किया समर्थन

PM MODI

भारत दौरे पर आये फ़्रांस के विदेश मंत्री, जीन बापटिस्ट लेमोयन ने आतंकवाद के मुद्दे पर प्रधान मोदी द्वारा दिए गए वैश्विक सम्मलेन के प्रस्ताव का समर्थन किया| फ्रांसीसी विदेश मंत्री ने आतंकवाद से निपटने की दिशा में किये गए प्रधानमंत्री मोदी के कार्यों की सराहना की और कहा कि आतंकवाद के खिलाफ हर संभव कदम उठाना फ़्रांस की प्राथमिकता है|

लेमोयन ने कहा कि आतंकवाद एक वैश्विक समस्या है| दुनिया के हर देश के लिए एक एक परेशानी का विषय है और इसके लिए वैश्विक पहल की जरुरत है| साथ ही उन्होंने इस बार पर जोर दिया की फ़्रांस आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ खड़ा है|

गौरतलब है की अभी हाल ही में जैश-ए-मुहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को आतंकवादी घोषित करने के लिए फ़्रांस ने ही संयुक्त राष्ट्र में अध्यादेश पेश किया था| चीन को अलग-थलग करने में और भारत के पक्ष को और भी मजबूत करने में फ़्रांस का योगदान सराहनीय था| फ़्रांस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में भारत को स्थायी सदस्य के तौर पर शामिल करने की वकालत भी की है|

लेमोयन का भारत दौरा मोदी के दुसरे कार्यकाल में किसी विदेशी राजनयिक का पहला दौरा है| सूत्रों के अनुसार ये दौरा भारत-फ़्रांस के बीच द्विपक्षीय रिश्तों को और प्रगाढ़ करने तथा G7 समिट के दौरान मोदी की फ़्रांस यात्रा के पहले की तैयारी है| उल्लेखनीय है की प्रधानमंत्री मोदी, फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के विशेष आमंत्रण पर 24 से 26 अगस्त के बीच फ़्रांस में होने वाले G7 समिट में विशेष अतिथि के तौर पर शामिल होने वाले हैं|