आतंकवाद पर अब फ्रांस ने किया मोदी जी जैसा वॉर

मानवता के दुश्मन आतंकवाद पर भारत की तरह ही अब फ्रांस ने भी कड़ी कार्यवाही की है। जिस तरह से आतंक के नाश के लिये भारत ने पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक किया था ठीक उसी तरह फ्रांस की वायुसेना ने अफ्रीकी देश माली में सक्रिय अलकायदा के आतंकवादियों पर जोरदार हवाई हमला बोला है।

 

भारत के रास्ते पर चला फ्रांस

समूची दुनिया के लिये नासूर बन रहा आतंकवाद पर भारत के बाद अब फ्रांस ने भी बड़ी कार्यवाही की है। फ्रांस ने एयर स्ट्राइक करके माली में करीब 50 आतंकियों को जहन्नुम पहुंचा दिया है। फ्रांस ने ये हमला वायुसेना के मिराज फाइटर जेट और ड्रोन विमानों से किया। जानकारों की माने तो फ्रांस ने यह हमला बुर्कीन फासो और नाइजर की सीमा के पास शुक्रवार को किया गया। फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले ने माली की सरकार से मुलाकात के बाद कहा कि 30 अक्‍टूबर को माली में फ्रेंच एयरफोर्स ने एक आक्रामक कार्रवाई की जिसमें 50 जिहादी मारे गए। इस दौरान बड़ी संख्‍या में हथियार भी बरामद किए गए। इस इलाके में माली की सरकार आतंकवादियों का सामना कर रही है। फ्रांसीसी रक्षामंत्री ने कहा कि 30 मोटरसाइकिलें भी हवाई हमले में नष्‍ट हो गई हैं। विमानों ने आतंकवादियों पर मिसाइलें दागी। उन्‍होंने बताया कि यह हमला उस समय किया गया जब ड्रोन ने पता लगाया कि बड़ी संख्‍या में मोटरसाइकिल पर सवार होकर लोग तीनों देशों की सीमा पर मौजूद हैं। ये जिहादी पेड़ों के नीचे छिप गए और निगरानी से बचने का प्रयास करने लगे। इसके बाद फ्रांसीसी वायुसेना ने अपने दो मिराज फाइटर जेट और ड्रोन विमान वहां भेजे। इन विमानों ने आतंकवादियों पर मिसाइलें दागी जिससे उनका सफाया हो गया। एक तरह से देखा जाये तो ये दुनिया में एक और बड़ा एयर स्ट्राइक हमला आतंकियों पर किया गया है।

 

आतंक के खिलाफ भारत फ्रांस के साथ खड़ा

आतंकियों के द्वारा फ्रांस में हुए हमले के बाद भारत के पीएम मोदी ने सबसे पहले ट्वीट करके इस हमले की घोर निंदा की थी और साफ किया था भारत आतंक के खिलाफ फ्रांस के साथ खड़ा है। वैसे भारत फ्रांस की दोस्ती बहुत गहरी है। जब अटल सरकार ने परमाणु टेस्ट किया था तो दुनिया के सब देश भारत के विरोध में खड़े थे लेकिन उस वक्त भी फ्रांस ने भारत का साथ दिया था। इसी तरह एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक के वक्त भी फ्रांस ने भारत का साथ दिया था ऐसे में ये साफ है कि आतंकवाद पर भारत और फ्रांस का मत एक ही है और वो ये की जबतक आतंक का नाश नही हो जाता तबतक शांत नही बैठना है और इसीलिये आज भारत के रास्ते पर चलकर फ्रांस ने साफ कर दिया है कि मानवता के इन दुश्मनों का अंत करीब आ चुका है।

वैसे कहते भी है जब अधर्म अति पार कर जाता है जब ही उसका अतं होता है और दुनिया में आतंकियों ने हर तरफ अति मचाकर रखा हुआ है। ऐसे में अब इनका अंत बिलकुल निकट आ चुका है।