पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता अरुण जेटली का निधन

Former Finance Minister Arun Jaitley Dies At AIIMS

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को एम्स में निधन हो गया। 66 वर्षीय जेटली का कई हफ्तों से अस्पताल में इलाज चल रहा था।

एम्स ने एक संक्षिप्त बयान जारी कर अरुण जेटली के निधन के बारे में सूचित किया।

AIIMS' press release

पेशे से वकील, जेटली, भाजपा सरकार के पहले कार्यकाल में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में एक महत्वपूर्ण हिस्सा थे। उन्होंने वित्त और रक्षा विभागों को संभाला और अक्सर सरकार के मुख्य संकटमोचन के रूप में कार्य किया। आधार, ट्रिपल तालक पर प्रतिबंध लगाने और GST लागू करवाने में इनका महत्वपूर्ण योगदान था |

भारत के शीर्ष वकील, जेटली अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में भी मंत्री थे, जिन्हें वाणिज्य और उद्योग, कानून, कॉर्पोरेट मामलों और सूचना और प्रसारण जैसे प्रमुख विभागों के साथ सौंपा गया था। वह 2009 से 2014 तक राज्यसभा में विपक्ष के नेता थे।

इस साल मई में जेटली को इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया था। जेटली ने अपनी अस्वस्थता के कारण ही 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया था । पिछले साल 14 मई को रेल मंत्री पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौप कर एम्स में गुर्दे का प्रत्यारोपण कराया था। उसके बाद वापस 23 अगस्त 2018 को वित्त मंत्रालय में वापस आ गए थे।