पूर्व ऑस्ट्रेलियाई पीएम टोनी अबॉट ने की भारत की तारीफ, कहा- भारत को सुरक्षा परिषद में मिले जगह

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Former Australian PM Tony Abbot praised India

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री टोनी अबॉट ने कहा कि आज दुनिया में कोई एक देश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जगह पाने का हकदार है तो वह भारत है। उन्होंने कहा कि सैन्य शक्ति और आर्थिक शक्ति, दोनों के हिसाब से देखें तो भारत सुरक्षा परिषद में जगह पाने का अधिकारी है।

बता दे 2021-2022 की अवधि के लिए सुरक्षा परिषद की अस्थायी सीट के वास्ते मतदान जून 2020 में न्यूयार्क में होगा। गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में कुल 15 सदस्य होते हैं। इनमें 5 सदस्य स्थाई होते हैं, तो वहीं बाकी 10 अस्थाई होते हैं। जो 10 सदस्य अस्थाई होते हैं, वह लगातार 2-2 साल के लिए चुने जाते हैं। इनमें दुनिया के अलग-अलग हिस्सों के लिए 2-2 सीटें चुनी जाती हैं, एशिया पैसेफिक देशों में से दो सदस्यों को चुना जाएगा। सुरक्षा परिषद में जो पांच सदस्य स्थाई हैं उनमें चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं। ऐसा पहली बार नहीं है, जब भारत सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य बनेगा। इससे पहले भी वह सात बार इस श्रेणी में शामिल हो चुका है। भारत लंबे समय से इस कमेटी में स्थाई सदस्यता की मांग कर रहा है।

इससे पहले टोनी अबॉट गुरु नानक देव जी की 550वीं पुण्यतिथि में हिस्सा लेने के लिए अमृतसर के स्वर्ण मंदिर पहुँचे। इस दौरान उन्होंने सिख पगड़ी पहन रखी थी। टोनी अबॉट ने लंगर में बैठ कर खाना भी खाया। टोनी अबॉट ख़ुद एक कैथोलिक सिख हैं। उन्होंने कहा कि वो ये देख कर आश्चर्यचकित हैं कि सिख धर्म में सभी समुदायों व मजहबों के लोगों का समान भाव से आदर किया जाता है। अमृतसर के स्वर्ण मंदिर को उन्होंने एक ‘बहुत ही पवित्र स्थल’ बताया।

टोनी अबॉट ने कहा कि यहाँ आकर प्रार्थना करना उनके लिए गर्व का क्षण है। इस दौरान शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ने पूर्व ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री को गुरु नानक का एक चित्र भेंट किया। अबॉट ने इस दौरान कहा कि वो भारत के सभी नागरिकों को धन्यवाद देना चाहते हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विकास में योगदान दिया है। टोनी अबॉट 1981 में भारत के कई स्थलों का भ्रमण कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि भारत एक उभरती हुई वैश्विक महाशक्ति है और दुनिया में बड़ा किरदार अदा करने जा रहा है।

अमृतसर से दिल्ली पहुचने के बाद अबॉट ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत को एक लोकतान्त्रिक ग्लोबल सुपरपावर बनना है। अबॉट ने कहा कि पिछले 5 सालों से भारत दुनिया की सबसे तेज़ी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्व मंच पर भारत की व्यापक रूप से आवाज सुनी जा रही है। 

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •