पाकिस्तान ने माना सच! विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र के मंच पर जम्मू और कश्मीर को माना ‘भारतीय राज्य’

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Qureshi considered Jammu and Kashmir as 'Indian state'

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट अब जग-जाहिर है। वह हर मुमकिन मंच पर भारत को घेरने की कोशिश कर रहा है। लेकिन हर बार उसे मुंह की खानी पड़ रही है। ताज़ा घटनाक्रम जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र के मंच का है, जहाँ पाकिस्तान के विदेश मंत्री बात-बात में सच बोल बैठे।

शाह महमूद कुरैशी ने मंगलवार को जेनेवा में कश्मीर को ‘जम्मू और कश्मीर का भारतीय राज्य’ बताया। और इस तरह पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने दुनिया के मंच पे आखिरकार सच को स्वीकार किया। उनके इस बयान का एक वीडियो भी सामने आया है।

जिनेवा में UNHRC में मीडिया से बात करते हुए, कुरैशी ने कहा: “भारत दुनिया को यह आभास देने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर में जीवन सामान्य हो गया है। यदि जीवन सामान्य स्थिति में लौट आया है, तो वे अंतर्राष्ट्रीय मीडिया को जम्मू और कश्मीर जाने की अनुमति क्यों नहीं देते हैं।”

UNHRC में, पाकिस्तान ने यह भी कहा कि भारत द्वारा जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा नहीं दिए जाने के बाद UNHRC को कश्मीर की स्थिति के प्रति “उदासीन” नहीं रहना चाहिए। जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 42 वें सत्र को संबोधित करते हुए, पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र को इस मुद्दे पर अपनी निष्क्रियता से विश्व मंच पर शर्मिंदा नहीं होना चाहिए।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारत पर कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाया और उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा नहीं है और यूएन को इसमें दखल देना चाहिए।

पाकिस्तान, संयुक्त राष्ट्र महासभा के सामने जम्मू और कश्मीर पर दुनिया का ध्यान खींचने के लिए अपना आखिरी दांव खेल रहा है। पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार के चल रहे 42 वें सत्र के दौरान इस मुद्दे को उठाया। पाकिस्तान कश्मीर पर सहारा चाहता है, लेकिन मंगलवार शाम जल्द भारत पाकिस्तान के आरोप का जवाब देगा।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •