आर्थिक मंदी झेल रहे पाकिस्तान को एयरस्पेस बंद करने से पाँच खरब का घाटा

Imran Khan

बीते सोमवार को बालाकोट एयर स्ट्राइक के पुरे 6 महीने बाद पाकिस्तान ने रात में 12 बजकर 41 मिनट पर सभी असैन्य विमानों के लिए अपना एयरस्पेस पूरी तरह से खोल दिया| इसके बारे में हमने पहले भी अपने पाठकों को पूरी जानकारी दी थी| हमने अपने पाठकों को यह भी बताया था कि पाकिस्तान के एयरस्पेस बंद करने की वजह से भारतीय एयरलाइन्स को भारी नुकसान झेलना पड़ा था| लेकिन आर्थिक रूप से लचर स्थिति वाले देश पाकिस्तान को भी भारी नुकसान उठाना पड़ा।

पाकिस्तानी मीडिया से मिली रिपोर्ट के अनुसार बताया जा रहा है कि पाकिस्तान को अपना एयरस्पेस बंद करने की वजह से उसे पांच खरब का घाटा हुआ है| बता दें की 14 फ़रवरी को आतंकवादियों द्वारा किये गए पुलवामा हमले का बदला लेते हुए भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैस-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों को निशाना बनाकर नेस्तानाबूत कर दिया था जिसके बाद पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस बंद कर दिया था|

पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि सीएए को हवाई क्षेत्र बंद होने के कारण पांच खरब का नुकसान हुआ है| वहीँ पाकिस्तान के एक नामचीन अख़बार ‘द डॉन’ में प्रकाशित खबर के अनुसार मंत्री ने कहा कि एयरस्पेस प्रतिबन्ध होने से पाकिस्तान से ज्यादा इंडियन एयरलाइन को नुकसान उठाना पड़ा है। उनका कहना है कि भारत को दोगुना नुकसान हुआ है| मंत्री जी का कहना है कि अब उनकी यही कोशिश रहेगी की पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) को पुनर्जीवित किया जाये और साथ ही ये लक्ष्य तय किया है 2025 तक धीरे-धीरे 14 नए विमानों वाले बेड़े को चरणबद्ध तरीके से बढ़ाकर 45 किया जाये|

एयरस्पेस बंद होने से नुकसान दोनों ही देशों को झेलना पड़ा है पर ये कहना कि भारत को ज्यादा नुकसान पहुंचा है सही नहीं होगा| अपने पाठको को हमने पहले भी इस तथ्य से रूबरू करवाया था कि पाकिस्तान का एयरस्पेस बंद होने की वजह से भारतीय एयरलाइन्स को करीब 548 करोड़ का घाटा हुआ था|

खैर नुकसान जिसका जितना भी हुआ हो अहम् मुद्दा ये है कि पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस सभी असैन्य उड़ानों के लिए खोल दिया है।