पहली बार जनता जनार्दन की राय से बन रहा आम बजट

देश का आम बजट 1 फरवरी को आने वाला है, जिसे वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में पेश करेंगी। लेकिन जिस तरह की आर्थिक स्थिति समूचे विश्व में बनी हुई है, ऐसे हालात में इस बार का बजट सभी देशवासियों के लिये अहम रहने वाला है। खुद पीएम मोदी ने मोर्चा संभालते हुए देश के बड़े उघोगपतियों, आर्थशास्त्रियों से मुलाकात कर रहे है। साथ ही आम लोगों से भी सुझाव मांगे है। इस तरह की पहल पहली बार देखी गई है। ऐसे में अगर आप कोई सुझाव सरकार को देना चाहते है, तो इस तरह दे सकते है।

आम बजट में भी होगी जनता की भागीदारी

नये भारत का आगाज इसी बात से लगाया जा सकता है, कि अब आम बजट बंद कमरे में नही बनता, अब बजट चंद अधिकारियों की बैठको में नही तय होता और न ही इसमे किसी पार्टी के घोषणा पत्र की झलक दिखाई देती है। क्योकि पहली बार देश का बजट जनता के द्वारा तैयार किया जा रहा है। खुद पीएम मोदी ने ट्वीट करके देश की जनता से आम बजट के लिये सुझाव मांगे है। ऐसे में पीएम मोदी को अगर आप कोई बात शेयर करना चाहते है तो आप MyGov के जरिए सुझाव दे सकते है।  

मोदी ने इकोनॉमी पर उद्योगपतियों से भी चर्चा की

इतना ही नही पीएम ने देश के उद्योगपतियों, अर्थशास्त्रियों से भी बजट को लेकर चर्चा की है। इन बैठकों में पीएम ने साफ साफ कहा कि वो सरकार के कामकाज की तारीफ सुनने के लिये नही बल्कि आने वाले दिनो में भारत की अर्थव्यवस्था कैसे और बढ़िया हो इसके लिये सुझाव दे। वही दूसरी तरफ देश की वित्तमंत्री भी देश के छोटे व्यापारियों, यूनियनों के साथ साथ देश के महात्वपूर्ण लोगों से मुलाकात करने में जुटी हुई है जिससे आम बजट ऐसा तैयार हो जो आम लोगों को फायदेमंद हो।

मतलब साफ है कि देश का आम बजट इस बार जनता की राय से तैयार होगा, यानी बजट ऐसा होगा जो गांव में बैठे किसानों के लिये आय दोगना करने वाला होगा, तो छोटे व्यापारियों को सहूलियत देने वाला होगा, तो नौकरी पेशा वाले लोगो की जेब में ज्यादा पैसा पहुंचाने वाला होगा। इस आशा से ही लोगों से राय मांगी जा रही है और ये कहना गलत न होगा कि ये पहला ऐसा बजट होगा जो सबकी आशा अकांक्षा में खरा उतरेगा।