निर्बला नहीं है निर्मला : दुनिया की सबसे ताकतवर 100 महिलाओं में 34वें स्थान पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

Nirmala Sitharaman ranked 34th among world's 100 most powerful women

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को बीते दिनों विरोधियों द्वारा खूब ट्रोल किया गया। देश की अर्थव्यवस्था पर लेकर विरोधियों ने उनको खूब निशाना बनाने की कोशिश की। विपक्ष द्वारा उनके जवाब देने की क्षमता पर सवाल उठाए गए। विपक्ष उनको निर्बल वित्तमंत्री बोलकर कोसता ही रह गया और निर्मला सीतारमण सभी आलोचनाओं का मुँहतोड़ जबाव देते हुए आज दुनिया की सबसे ताकतवर महिलाओं की सूची में शामिल हो गई हैं।

फोर्ब्स ने दुनिया की 100 ताकतवर महिलाओं की लिस्ट जारी की है। इसमें निर्मला सीतारमण को 34वें नंबर पर रखा गया है। निर्मला सीतारमण के अलावा दो अन्य भारतीय महिलाओं ने भी इस सूची में अपनी जगह बनाई।

गौरतलब है कि कॉन्ग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने हालिया शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में वित्त मंत्री को ‘निर्बला’ कह दिया था।

फोर्ब्स ने केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, एचसीएल कॉरपोरेशन की सीईओ और कार्यकारी निदेशक रोशनी नादर मल्होत्रा और बायोकॉन की संस्थापक किरन मजूमदार शॉ को दुनिया की सबसे ताकतवर 100 महिलाओं में रखा है। ‘दुनिया की 100 सबसे ताकतवर महिलाओं’ की 2019 की फोर्ब्स सूची में जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल पहले स्थान पर हैं। बता दे कि, जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल लगातार नौंवी बार इस सूची में पहले स्थान पर है। जबकि दूसरे स्थान पर हैं यूरोपीय सेन्ट्रल बैंक की प्रेसिडेंट क्रिस्टीन लेगार्द और तीसरे स्थान पर अमेरिकी संसद में निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी है।

इस सूची में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना 29वें स्थान पर हैं। फोर्ब्स का कहना है कि 2019 में दुनिया भर में महिलाओं ने सक्रियता से आगे बढ़कर सरकार, उद्योगों, मीडिया और परमार्थ कार्यों में नेतृत्वकारी भूमिका संभाली। सीतारमण फोर्ब्स की सूची में पहली बार शामिल हुई हैं और वह 34वें स्थान पर हैं।

भारत की पहली वित्त मंत्री सीतारमण पहले रक्षा मंत्री भी चुकी हैं। सीतारमण पहली महिला मंत्री हैं जो स्वतंत्र रूप से वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभाल रही हैं। इससे पहले वित्त मंत्रालय का प्रभार तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पास रह चुका है।

रोशनी मल्होत्रा सूची में 54वें स्थान पर हैं। एचसीएल कॉरपोरेशन की सीईओ होने के नाते वह 8.9 अरब डॉलर की कंपनी में सभी रणनीतिक फैसले लेने के लिए जिम्मेदार हैं। मल्होत्रा कंपनी की सीएसआर समिति की अध्यक्ष और शिव नादर फाउंडेशन की ट्रस्टी भी हैं। वहीं सूची में 65वें स्थान पर शामिल शॉ भारत की ऐसी सबसे अमीर महिला हैं जिन्होंने अपनी पूरी संपति स्वयं कमाई है। देश की सबसे बड़ी बॉयो फार्मास्यूटिकल कंपनी बायकॉन की शुरुआत शॉ ने 1978 में की थी। इस कंपनी का मार्केट अब अमेरिका में भी बढ़ रहा है।

इनके अलावा इस लिस्ट में मिलिंडा गेट्स छठे पायदान पर, न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा एंड्रेन 38वें पायदान पर, डॉनल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप 42 वें पायदान पर, सिंगर रिहाना 61वें पायदान पर, बियोंस 66वें पायदान पर, टेलर स्विफ्ट 71वें पायदान पर, टेनिस स्टार सेरेना विलियम्स 81वें पायदान पर और क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग जिन्हें हाल ही में टाइम पर्सन ऑफ द ईयर 2019 भी चुना गया है, वह 100वें पायदान पर हैं।