पिता ‘मध्यप्रदेश सिंह’ ने बेटे का नाम ‘भोपाल सिंह’ रखा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एक नवंबर को मध्य प्रदेश का स्थापना दिवसएक नवंबर को मध्य प्रदेश का स्थापना दिवस है. स्थापना दिवस पर हम म‍िला रहे हैं एक ऐसे शख्स से जिनका खुद का नाम उस राज्य पर है, ज‍िसमें वह रहते हैं. इस शख्स ने अपने तीन महीने के बेटे का नाम भी प्रदेश की राजधानी के नाम पर रखा है.

Madhya_Pradesh_Singh

यह शख्स झाबुआ के शासकीय महाविद्यालय में गेस्ट प्रोफेसर हैं. इनका नाम है मध्यप्रदेश सिंह; जी हां, मध्यप्रदेश सिंह को यह नाम उनके पिता ने सरकारी अफसरों से मिली एक डांट के बाद दिया था.

यह साहब अपना नाम मध्यप्रदेश के नाम पर होने से ही संतुष्ट नहीं थे. पहले से ही योजना बना ली थी कि अगर बेटा होगा तो उसका नाम प्रदेश की राजधानी के नाम पर भोपाल सिंह रखेंगे. बीते तीन महीने पहले जब बेटा हुआ तो मध्यप्रदेश सिंह ने उसका नाम रखा ‘भोपाल सिंह’.

इस नाम को रखने के पीछे उनका तर्क है कि जब पिता का नाम एक राज्य के नाम पर है तो बेटा उस राज्य की राजधानी होना ही चाहिए. इसलिए मध्यप्रदेश सिंह ने अपने बेटे का नाम भोपाल सिंह रख दिया. इन दोनों नामों से वे बेहद खुश हैं.

Madhya Pradesh Singh ID Card

ऐसा नहीं है कि मध्यप्रदेश सिंह नाम रखने से मध्यप्रदेश सिंह की दिक्कत खत्म हो गई बल्कि उनकी दिक्कतें बढ़ी हैं. अब आलम यह है कि उनको हमेशा अपना पहचान पत्र साथ रखना पड़ता है. कभी ट्रैफिक पुलिस, तो कभी शासकीय अधिकारी यह नाम सुनकर अविश्वास करते है मगर पहचान पत्र बताने पर सब हैरानी के साथ सामान्य हो जाते हैं.

This story originally appeared on AajTak


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •