किसान अब सीधे पीएम-किसान पोर्टल पर कर सकेंगे रजिस्ट्रेशन

Farmers can now register directly on PM-Kisan Portal | PC - Google

मोदी 2.0 सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना में कुछ बदलाव किया है। अब, भारत के किसी भी हिस्से में किसान सीधे पीएम किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट (pmkisan.gov.in) पर एक क्लिक के साथ रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। नरेंद्र मोदी सरकार के इस कदम से उन राज्यों के किसान भी सक्षम होंगे, जहां राज्य सरकार केंद्र सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी किसान कल्याण योजना को आगे बढ़ाने के लिए उत्सुक नहीं है। यह कदम ऐसे राज्यों के सीमांत किसानों तक भी पहुंचने के उद्देश से लिया गया है। रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को सरल रखा गया है जिससे किसान अपने भूमि की स्व-घोषणा के साथ पीएम किसान पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

अब तक, किसान राज्य सरकार की भागीदारी के बिना किसान कल्याण योजना के साथ खुद को पंजीकृत करने में असमर्थ थे। अब किसान सीधे pmkisan.gov.in पर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

कृषि मंत्रालय ने मंगलवार को पीएम किसान पोर्टल लॉन्च किया, जो किसानों को सीधे रजिस्ट्रेशन करने में सक्षम बनाता है। अब भारत के किसी भी हिस्से में सीमांत किसानों के लिए 6,000 रुपये वार्षिक अनुदान का दावा करना आसान हो गया है जो सरकार तीन किस्तों में भुगतान करती है।

हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि राज्य सरकार की भूमिका शून्य हो गई है। संबंधित राज्य सरकारों को लाभार्थी किसान के बैंक खाते में 6,000 रुपये की सब्सिडी ट्रान्सफर से पहले पीएम किसान सम्मान निधि योजना में सरकार द्वारा मांगे जाने वाले किसानों की आधार संख्या और अन्य पात्रता मानदंडों को सत्यापित करने की आवश्यकता होगी। सूत्रों के मुताबिक केंद्र द्वारा विभिन्न राज्यों से बड़ी संख्या में आवेदन प्राप्त करने के बाद ऐसा निर्णय लिया गया है, जहाँ राज्य सरकारें पीएम किसान सम्मान निधि योजना को आगे बढ़ाने की इच्छुक नहीं हैं।

गौरतलब है की पीएम किसान सम्मान निधि 87,000 करोड़ रुपए की योजना है। पहले 2 हेक्टेयर तक जमीन वालों के लिए योजना का लाभ देने की शर्त रखी गई थी । बाद में मई में सभी किसानों को इसमें शामिल कर लिया गया।