इसरो के पूर्व चेयरमैन किरण कुमार फ्रांस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ISRO-Chairman-AS-Kiran-Kumar-1

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व चेयरमैन एएस किरण कुमार को फ्रांस ने अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘शेवेलियर डी लॉर्ड नेशनल डी ला लिगियन डी ऑनर’ से समानित किया है| पूर्व चेयरमैन एएस किरण कुमार को यह सम्मान फ्रांस और भारत के बीच बेहतर स्पेस को-ऑपरेशन के लिए दिया गया है|

इस सन्दर्भ में फ्रांस की स्पेस एजेंसी सीएनईएस के चेयरमैन जीन येव्स ले गाल ने इस दौरान कहा कि यह सम्मान इसलिए दिया गया है क्योंकि किरण कुमार ने दोनों देशों की स्पेस तकनीक को एक नया आयाम दिया| साथ ही एक सम्मिलित प्रयास कि लिए किरण ने जो कार्य किया वह प्रशंसनीय है| उन्होंने कहा कि इसरो में रहते हुए किरण ने जो काम किए वह आसान नहीं थे और जब वे 2015 से 2018 के बीच चेयरमैन बने तो उन्होंने फ्रांस और भारत के इस ऐतिहासिक को-ऑपरेशन को सिर्फ संभाला ही नहीं इसे एक नई ऊंचाई तक ले गए| वह दोनों देशों के रणनीतिक सहयोग को आगे बढ़ाने वाले प्रमुख लोगों में से एक थे।

 india-space-science-satelite_

इससे पहले फ्रांस के राष्ट्रपति की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि भारत में फ्रांस के राजदूत एलेक्जेंडर जीगलर एएस किरण कुमार को यह सम्मान अर्पित करेंगे। इस कार्यक्रम में फ्रांस की स्पेस एजेंसी के चेयरमैन जीन येस ली गाल भी मौजूद रहेंगे।

इसके अलावा राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की ओर से जारी बयान में भारत और फ्रांस का अंतरिक्ष सहयोग कार्यक्रम आगे बढ़ाने के लिए किरण कुमार की भूरि-भूरि प्रशंसा की गई है।

उल्लेखनीय है कि ‘शेवेलियर डी लॉर्ड नेशनल डी ला लिगियन डी ऑनर’ 1802 में नेपोलियन बोनापार्ट ने शुरू किया था| यह फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है| यह ऐसे लोगों को दिया जाता है जो देश के लिए विशिष्ट कार्य करते हैं| इस सम्मान को अन्य देशों के नागरिकों को भी दिया जाता है| लिहाजा किरण कुमार के विशिष्ट कार्यों को ध्यान में रखकर फ्रांस ने उन्हें अपने देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया है|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •