बजट 2020 में नई शिक्षा नीति पर जोर, शिक्षा के लिए 99,300 करोड़ रुपये आवंटित

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने लोकसभा (Lok Sabha) में मोदी सरकार 2.0 का पहला पूर्ण बजट 2020 (Union Budget 2020) पेश किया। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार शीघ्र ही नई शिक्षा नीति लेकर आएगी और सरकार को इस संबंध में दो लाख से ज्यादा सुझाव भी मिल चुके हैं।’

बजट में शिक्षा के लिए वित्त मंत्री ने कई घोषणाएं कीं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में वित्त वर्ष 2020-21 में शिक्षा पर 99,300 करोड़ रुपए खर्च का ऐलान किया। साथ ही स्किल डेवल्पमेंट पर 3000 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार युवा इंजीनियरों को इंटर्नशिप का अवसर देने के उद्देश्य से शहरी स्थानीय निकायों के लिए एक कार्यक्रम शुरू करने की योजना बना रही है। वित्त मंत्री के मुताबिक भारत के पास दुनिया में सबसे युवा वर्कफोर्स मौजूद है। ऐसे में शिक्षा व्यवस्था में सुधार का ऐलान किया और जल्द ही नई शिक्षा नीति लागू करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति को लेकर राज्यों से सुझाव मांगे गए थे। इसे लेकर राज्यों से 2 लाख सुझाव आएं, जिन पर काम किया जा रहा है। इसके अलावा नेशनल पुलिस यूनिवर्सिटी, डिग्री लेवल ऑनलाइन स्कीम, नेशनल फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी और मेडिकल कॉलेजों के निर्माण को लेकर भी उन्होंने घोषणा की। आइए जानते हैं शिक्षा के लिए इस बजट में क्या-क्या प्रावधान किया है मोदी सरकार ने:

1. अब ऑनलाइन डिग्री लेवल प्रोग्राम चलाए जाएंगे।

2. जल्द ही सरकार की ओर से नई शिक्षा नीति का ऐलान किया जाएगा।

3. जिला अस्पतालों में अब मेडिकल कॉलेज बनाने की योजना भी बनाई जाएगी।

4. मार्च 2021 तक 150 नए डिप्लोमा संस्थान

5. नेशनल पुलिस यूनिवर्सिटी और नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी का ऐलान

6. लोकल बॉडी में काम करने के लिए युवा इंजीनियर्स को इंटर्नशिप की सुविधा दी जाएगी।

7. उच्च शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए सरकार काम कर रही है, दुनिया के छात्रों को भारत में पढ़ने के लिए सुविधाएं दी जाएंगी। साथ ही ‘स्टडी इन इंडिया’ को बढ़ावा देने की बात भी इस बजट में कही गई। इसके तहत एशिया और अफ्रिका के देशों के छात्रों को स्कॉलरशिप दी जाएगी।

8. डॉक्टरों के लिए एक ब्रिज प्रोग्राम शुरू किया जाएगा, ताकि प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों को प्रोफेशनल बातों के बारे में सिखाया जा सके।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •