विधानसभा चुनाव / महाराष्ट्र की 288 और हरियाणा की 90 सीटों के लिए थमा चुनाव प्रचार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

महाराष्ट्र-हरियाणा विधानसभा चुनाव - फोटो : अमर उजाला

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव का प्रचार शुक्रवार शाम पांच बजे समाप्त हो गया। दोनों राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार का दिन प्रचार के लिए आखिरी रहा। महाराष्ट्र विधानसभा की 288 और हरियाणा की 90 सीटों पर सोमवार (21 अक्टूबर) को सुबह 7 बजे से 6 बजे तक मतदान होगा। दोनों राज्यों में इस समय बीजेपी की सरकार है। लोकसभा चुनाव 2019 के बाद पहली बार किसी राज्य में विधानसभा चुनाव होने जा रहे है। बीजेपी ने मोदी-शाह की अगुवाई में लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन किया था। इस बार भी इन दोनों के नेतृत्व में बीजेपी ने धुंआधार चुनाव प्रचार किया। बाजेपी के चुनाव प्रचार में स्थानीय मुद्दों के अलावा राष्ट्रीय मुद्दे छाए रहे।

मतगणना गुरुवार (24 अक्टूबर) को होगी। नतीजे भी उसी दिन शाम तक आने की सम्भावना है। साथ ही महाराष्ट्र एवं हरियाणा के लोकसभा की दो सीट और 18 राज्यों की 64 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव भी कराए जा रहे हैं।

लोकसभा की जिन दो सीटों पर मतदान होगा उनमें बिहार की समस्तीपुर और महाराष्ट्र की सातारा सीट शामिल हैं। समस्तीपुर के लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान के निधन के कारण इस सीट पर उपचुनाव कराया जा रहा है। जबकि सातारा के राकांपा सांसद उदयनराजे भोसले के लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के कारण यहां उपचुनाव हो रहा है। छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज भोसले सातारा लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार के तौर पर किस्मत आजमा रहे हैं। राकांपा ने उनके खिलाफ श्रीनिवास पाटील को चुनाव मैदान में उतारा है। उपचुनाव के नतीजे भी 24 अक्टूबर को आएंगे।

देश में 64 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव

महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के अलावा देश के अलग-अलग राज्यों में 64 विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव होना है। इस सभी सीटों पर भी 21 अक्तूबर को मतदान होगा। अरुणाचल-1, असम-4, बिहार-5, छत्तीसगढ़-1, गुजरात-4, कर्नाटक-16, केरल-5, मध्यप्रदेश-1, मेघालय-1, ओडिशा-1, राजस्था-2, सिक्कम-3, तमिलनाड़ु-2, तेलंगाना-1, उत्तर प्रदेश-11 सहित कुल 64 सीटों पर उपचुनाव होने हैं।

PM Narendra Modi

चुनाव प्रचार के लिए आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा में दो रैली को संबोधित किया। जबकि गृहमंत्री अमित शाह महाराष्ट्र में रैली को संबोधित किए। हरियाणा के ऐलनाबाद में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस और उसके कल्चर से जुड़े दलों ने हिंदुस्तानियों की आस्था, परंपरा और संस्कृति को कभी मान नहीं दिया। 70 वर्ष तक समस्याओं में उलझाते रहे, समाधान के लिए ईमानदार कोशिश नहीं की। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि “भारत के हिस्से के पानी की एक बूंद भी पाकिस्तान (Pakistan) नहीं जाने दूंगा। यह भारत के किसानों के हिस्से का पानी है और इसका उपयोग देश के लोगों की जरूरतों को पूरी करने के लिए किया जाएगा।”

हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर को बीजेपी ने सीएम पद का उम्मीदवार और महाराष्ट्र में देवेद्र देवेंद्र फडणवीस पर बीजेपी ने फिर से दाव लगाया है।

बता दें कि हरियाणा में 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में, भाजपा ने 47 सीट, इंडियन नेशनल लोकदल (आईएनएलडी) ने 19 जबकि कांग्रेस ने 15 सीटें जीती थी। वहीं हरियाणा जनहित कांग्रेस(एचजेसी) ने दो सीट, शिरोमणी अकाली दल (शिअद) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने एक-एक सीटें जीती थी। पांच निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी यहां चुनाव में जीत दर्ज की थी।

महाराष्ट्र में साल 2014 में हुए विधानसभा चुनाव परिणाम पर नजर डाले तो भारतीय जनता पार्टी 123 सीटें हासिल कर सबसे बड़े दल के रूप में उभरी थी। ऐसा पहला मौका था जब महाराष्ट्र में बीजेपी को इतनी सीटें हासिल हुई थीं। जबकि 63 सीटों के साथ शिवसेना दूसरे नंबर पर थी। और कांग्रेस के खाते में 42 और राकांपा के खाते में 41 सीटें आई थी। जबकि 1 सीट अन्य के खाते में गई थी। ऐसे में अब देखना है कि 21 अक्टूबर को होने वाले मतदान के बाद राज्य में किस पार्टी की वापसी होती है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •