भारत की वैक्सीन कूटनीति से जल रहा है ड्रैगन

एक तरफ भारत है जो मानवता को परम धर्म समझकर अपने पड़ोसियों को भी वैक्सीन जल्द से जल्द भेजने में लगा है जिससे वहां पर भी कोरोना को हराया जाये। भारत की इस वैक्सीन कूटनीति से आज विश्व में भारत का दबदबा बढ़ रहा है तो दूसरी तरफ चीन को अब इससे जलन होने लगी है और वो इसके खिलाफ भारत को बदनाम करने की साजिश में रचने में जुट गया है। हालांकि आज दुनिया में भारत की वैक्सीन डिप्लोमसी ड्रैगन के मनोबल को तोड़ते हुए दिखाई दे रही है।

पड़ोसी देशों को वैक्सीन दे कर भारत का बढ़ा मान

भारत अपने पड़ोसी देशो को आगे बढ़कर वैक्सीन भेज रहा है। अब तक मालदीव, भूटान, बांग्लादेश और नेपाल के साथ साथ ब्राजील भारत की वैक्सीन पहुंच गई है तो दूसरी तरफ बहुत ही जल्द म्यांमार और सेशेल्स को भी मुफ्त वैक्सीन की खेप मिलने वाली है। इतना ही नही नेपाल और मालदीव को भी भारत ने मुफ्त में लाखो की संख्या में वैक्सीन पहुंचाई है जिसका आभार इन देशों ने माना है। भारत के इस कदम की तारीफ भी इस वक्त दुनिया में जमकर हो रही है। अमेरिका में आई नई नवेली बाइडन की सरकार ने भारत के इस कदम की सरहाना की है। वैसे भी भारत में जब से मोदी जी की सरकार आई है तब से ही पड़ोसी पहले की कूटनीति अपनाई थी जिसका फायदा उसे मिल रहा है। इसके साथ साथ माना जा रहा है कि जल्द ही भारत की वैक्सीन श्रीलंका, अफगानिस्तान  और मॉरिशस भी भेजी जायेगी जिसके बाद अगर देखा जाये तो पाकिस्तान को छोड़कर सभी पड़ोसी मुल्क में भारत की ही वैक्सीन प्रयोग की जायेगी जो एक बहुत बड़ी सफलता होगी।

भारत की वैक्सीन कूटनीति से चीन को हो रही है जलन

लगातार भारत चीन को हर मोर्चे में पटखनी लगाने में लगा हुआ है। ताजे क्रम में कोरोना वैक्सीन के मामले में भारत की वैक्सीन के आगे कही भी चीन की वैक्सीन नही टिक पा रही है। बस जब से ये खबर सामने आ रही है चीन के पेट में भंयकर दर्द हो रहा है। हद तो तब हो गई जब चीन अब भारत की वैक्सीन के खिलाफ दुनिया में गलत प्रचार करने में जुट गया है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने की घटना के बाद भारत के वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग क्षमता पर सवाल उठाए हैं। ग्लोबल टाइम्स ने यह भी दावा किया है कि चीन में रहने वाले भारतीय चीनी वैक्सीन को तरजीह दे रहे हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के हवाले से ग्लोबल टाइम्स ने दावा किया है कि पेशेंट्स राइट्स ग्रुप ऑल इंडिया ड्रग एक्शन नेटवर्क का कहना है कि सीरम ने कोविशील्ड को लेकर ब्रीजिंग स्टडी को पूरा नहीं किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने बेहद सस्ते में उन देशों को वैक्सीन देने का ऑफर दिया है, जहां वह राजनीतिक और आर्थिक रूप से अपने पैर पसारना और प्रभाव जमाना चाहता है लेकिन ऐसा हो नही पा रहा है।

आज भारत मोदी जी के नेतृत्व में इतना आत्मनिर्भर हो चुका है कि वो अपनी के साथ साथ अपने पड़ोसियों की मदद भी आगे आकर कर रही है जिसे देखकर सिर गर्व से ऊंचा हो जा रहा है तो दूसरी तरफ चीन की गिरती साख से ये भी समझ में आ गया कि चीन भारत के आगे किसी भी तरह से आगे नही है।