जब तक युद्ध चल रहा है हथियार न डालें: मोदी

100 करोड़ टीकाकरण होने पर पीएम मोदी एक बार फिर से देश की जनता से रूबरू हुए। इस दौरान एक तरफ पीएम मोदी ने इस अभियान की सराहना की और बोला कि इतनी बड़ी कामयाबी देश की मिलीजुली ताकत के कारण ही संभव हो पाया है। पीएम ने इस दौरान देशवासियों से दिवाली पर स्वदेशी सामान ही खरीदने पर बल दिया तो कोरोना से बचने के लिये मास्क का प्रयोग जरूर करे इसकी भी अपील की। 

 कोरोना के खिलाफ जंग में कोताही नहीं बरते

इतना ही नही पीएम मोदी ने बोला कि पिछली दिवाली हर किसी के मन में एक तनाव था, लेकिन इस दिवाली 100 करोड़ वैक्सीन डोज के कारण एक पैदा हुआ विश्वास है। अगर मेरे देश की वैक्सीन मुझे सुरक्षा दे सकती है, तो मेरे देश में बने सामान मेरी दिवाली को और भी भव्य बना सकते हैं। कवच कितना ही उत्तम हो, कवच कितना ही आधुनिक हो, कवच से सुरक्षा से पूरी गारंटी हो तो भी जबतक युद्ध चल रहा है हथियार नहीं डाले जाते। मेरा आग्रह है कि हमें अपने त्योहारों को पूरी सतर्कता के साथ ही मनाना है। मास्क का प्रयोग लगातार करना है।

वोकल फॉर लोकल होना ही होगा

पीएम मोदी ने कहा कि हर छोटी से छोटी चीज, जो मेड इन इंडिया हो, जिसे बनाने में किसी भारतवासी का पसीना बहा हो, उसे खरीदने पर जोर देना चाहिए और ये सबके प्रयास से ही संभव होगा। भारतीयों द्वारा बनाई चीज खरीदना, वोकल फॉर लोकल होना, ये हमें व्यवहार में लाना ही होगा। कोरोना काल में कृषि क्षेत्र ने हमारी अर्थव्यवस्था को मजबूती से संभाले रखा है। आज रिकॉर्ड लेवल पर अनाज की खरीद हो रही है। किसानों के बैंक खाते में सीधे पैसे जा रहे हैं। वैक्सीन के बढ़ते कवरेज के साथ हर क्षेत्र में सकारात्मक गतिविधियां तेज हो रही हैं।

वैज्ञानिक प्रोग्राम की कोख में जन्मा भारत का वैक्सीनेशन

पीएम मोदी ने कहा हमें हर छोटी से छोटी चीज जो मेड इन इंडिया हो, जिसे बनाने में किसी भारतवासी का पसीना बहा हो, उसे खरीदने पर जोर देना चाहिए और ये सबके प्रयास से ही संभव होगा। भारत का पूरा वैक्सीनेशन प्रोग्राम विज्ञान की कोख में जन्मा है, वैज्ञानिक आधारों पर पनपा है और वैज्ञानिक तरीकों से चारों दिशाओं में पहुंचा है। अगर मेरे देश की वैक्सीन मुझे सुरक्षा दे सकती है तो मेरे देश का उत्पादक, मेरे देश में बने सामान, मेरी दिवाली और भी भव्य बना सकते हैं।

पीएम मोदी ने देश को फिर से अपने संबोधन के जरिये देश को एक मिशन पर लगा दिया है कि इस दिवाली स्वदेशी अपनाकर हम फिर देश की आर्थिक स्थिति में नये मुकाम को हासिल करेंगे तो विश्व को भारत की एक और शक्ति से रूबरू करवायेंगे।