आतंकी संगठन जॉइन करने की योजना बना रहा पाकिस्तानी डॉक्टर गिरफ्तार

अमेरिका के वाशिंगटन शहर मे एक पाकिस्तानी मूल के डॉक्टर को गिरफ्तार किया गया | बताया जा रहा है कि वह डॉक्टर आतंकी संगठन आईएस की मदद कर रहा था |कानून विभाग के मुताबिक, डॉ. मोहम्मद मसूद को मिनेपोलिस के सेंट पॉल इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पकड़ा गया। वह लॉस एंजिल्स जाने की तैयारी में था। फेडरल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (एफबीआई) की टास्क फोर्स लंबे समय से मसूद की गतिविधियों पर नजर रख रही थी। सीरिया जाने के लिए वह जिन लोगों के संपर्क में था, वे एफबीआई के मुखबिर थे।

असिस्टेंट अटॉर्नी जनरल जॉन सी. डेमर्स और मिनेसोटा की अटॉर्नी एरिका एच मैकडोनाल्ड ने मसूद के खिलाफ आपराधिक शिकायत की घोषणा की। उस पर आतंकी संगठन को मदद करने का आरोप लगाया गया।

सर्च कोऑर्डिनेटर भी रहा था

मसूद को मिनेपोलिस कोर्ट में पेश किया गया। अब 24 मार्च को मामले की सुनवाई होगी। तब तक उसे हिरासत में रखने का निर्देश दिया गया है। कोर्ट में दर्ज मामले के मुताबिक, मसूद पाकिस्तान से लाइसेंस प्राप्त डॉक्टर है। वह एच 1-बी वीजा पर अमेरिका आया था। वह मिनेसोटा की एक क्लीनिक में रिसर्च कोऑर्डिनेटर के तौर पर काम कर चुका है।

जॉर्डन के रास्ते सीरिया जाने की योजना बनाई थी

कानून विभाग के मुताबिक, मसूद ने जनवरी और मार्च 2020 के बीच आईएस आतंकियों के प्रति झुकाव दिखाया। उसने सीरिया जाकर इस संगठन के लिए लड़ने की इच्छा जाहिर की थी। वह पहले जॉर्डन से सीरिया जाना चाहता था। उसने शिकागो से जॉर्डन जाने के लिए टिकट भी ली थी। हालांकि, 16 मार्च को कोरोनावायरस के कारण जॉर्डन ने सीरिया से अपनी सीमा बंद कर दी, जिससे मसूद के मंसूबे कामयाब नहीं हो पाए। इसके बाद उसने मिनेपोलिस से लॉस एंजिल्स जाने का फैसला किया। यहां मसूद को जिस व्यक्ति से मिलना था, वह उसे कार्गो शिप से सीरिया भेजने में मदद करने वाला था। इससे पहले ही मसूद गिरफ्तार कर लिया गया।