देश के नन्हे बच्चों को सियासत का मोहरा मत बनाओ

जिस तरह से शाहीन बाग में सियासत के चलते बच्चों को खिलौना बनाया गया है, उसके पीछे कही वो ताकत तो नहीं जो देश में अमन शांति तोड़ना चाहते है, और कुछ देश के जयचंद उनकी मदद करने में लगे है। जो आने वाले दिनो में घातक परिणाम हो सकते है।

बच्चों के जरिये सियासत चमकाने की कोशिश

PC – HuffPost India

दिल्ली का शाहीन बाग टुकड़े टुकड़े गैंग का नया मुख्यालय बन गया है और यहां एक खास संप्रदाय और एक विशेष विचारधारा के लोगों का कब्ज़ा हो चुका है। शाहीन बाग को बच्चों के मन में जहर भरने का ज़रिया बनाया जा रहा है। इतना ही नहीं शाहीन बाग धीरे धीरे एक ऐसा इलाका बनता जा रहा है, जहां से आम लोग तो क्या पुलिस वाले भी गुज़रने से पहले दस बार सोच रहे है। शाहीन बाग के विरोध-प्रदर्शनों की खास बात ये है,कि इनमें महिलाओं और बच्चों का जमकर इस्तेमाल हो रहा है।

शाहीन बाग के बच्चों के मन में इतना ज़हर भर दिया गया है कि अब ये बच्चे देश के प्रधानमंत्री को मारने की बातें कर रहे हैं। आपने ने भी वो Viral Video ज़रूर देखा होगा। जिसमें ये छोटे छोटे बच्चे देश के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को जान से मारने की धमकिया दे रहे हैं। लेकिन ऐसा क्यो हो रहा है और पर्दे के पीछे से इस तरह की सियासत कौन कर रहा है जो बच्चों के दिल में इस कदर जहर भर रहे है। वो देश विरोधी नारे लगाने लगे है।

आलम ये है कि प्रदर्शन में बैठे ये बच्चे एक महीने से ज्यादा वक्त से स्कूल नही जा रहे है। लेकिन सियासत करने वालों को ये नहीं दिख रहा है। अपनी सियासत चमकाने में लगे ये लोग एक तरह से इन बच्चो के भविष्य के साथ भी खेल रहे है। मोदी विरोधी इसके परे इन बच्चों और इनके परिवार को सियासत के चलते सिर्फ यूज कर रहे है। इतिहास में झाँके तो आजादी के बाद एक मूवी जागृति आई थी, जिसमे बच्चो को बताया गया कि कैसे देश की आजादी दिलाने के लिए देश के युवा शहीद हुए थे लेकिन आज कुछ लोग देश भक्ति सिखाने के बजाये देशविरोधी नारे लगाने के लिए देश के मासूम नन्हे बच्चो का इस्तेमाल कर रहे है, जो देश और सम्य समाज दोनो को लिए घातक है। ऐसे में हम तो यही बोलेंगे कि देश की जनता इस बात को समझे और ऐसे लोगो के मंसूबों पर पानी फेरे जिससे देश में अमन शांति का महौल बने।