कलेक्टर ने पेश की मिसाल – अपने दफ्तर से एसी हटवाकर बच्चों के अस्पताल में लगवाया

Mdhya-Pradesh-Umaria_Hospital

चिलचिलाती धुप और गर्म मौसम की मार गरीबों को ही पड़ती है| वातानुकूलित गाड़ियों और गगनचुम्बी इमारतों में इमारतों में रहने वाले अमीरों, नेताओं और अधिकारीयों के लिए गर्मी सिर्फ एक मौसम भर है| ऐसे में मध्यप्रदेश में उमरिया के कलेक्टर ने एक बेहतरीन मिसाल पेश की है|

झुलसती गरमी झेल रहे उमरिया का तापमान 42 से 45 डिग्री के आस-पास हो रखा है| ऐसे में चाइल्ड गवर्नमेंट हॉस्पिटल के बच्चे बीमारी के साथ-साथ गर्मी से भी लड़ रहे थे| ऐसे में उमरिया के जिला कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने अपने दफ्तर से सभी एसी हटवाकर बच्चों के अस्पताल में लगवा दिया|

सोमवंशी ने बताया कि अस्पताल में बच्चों के पोषण पुनर्वास केंद्र में कमजोर और पोषण की कमी से जूझ रहे बच्चों को असुविधा से बचाने के लिए त्वरित रूप से एसी की जरुरत को ध्यान में रखते हुए, ये फैसला लिया गया| कलेक्टर के इस मानवीय कदम का बीमार बच्चों के अभिभावकों ने स्वागत किया|