लोकतंत्र है, तो कुछ बोल सकते हैं क्या?: पीएम मोदी

इस बात को कोई नकार नही सकता है कि पीएम मोदी एक तीर से कई शिकार करते है। इसका एक ताजा उदाहरण आज यूपी में प्रचार के दौरान देखने को मिला जब पीएम मोदी ने यूपी की जनता के साथ साथ इशारों में गोवा कि जनता को भी साधा। पीएम मोदी ने निशाना साधते तृणमूल कांग्रेस गोवा में हिंदू वोटों को बांटने के लिए चुनाव लड़ने वाली पार्टी बताया।

हिंदू वोट को बांटने की साजिश

पीएम मोदी ने कहा कि गोवा में चुनाव चल रहा है। मैं सभी मतदाताओं को एक बात बताना चाहता हूं कि मैंने कल गोवा के एक अखबार में तृणमूल कांग्रेस  के एक नेता का इंटरव्यू देखा और तृणमूल नेता ने जो कहा उस पर चुनाव आयोग और मतदाताओं को गौर करना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि तृणमूल नेता ने बोला था कि हमने तो इस पार्टी से इसलिए गठबंधन किया है, क्योंकि हम गोवा में हिंदू वोटों को बांटना चाहते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि यह हिम्मत…. , क्या यह लोकतंत्र है कि आप खुले आम कहें कि आप हिंदू वोटों को बांटना चाहते हैं, तो आप किसके वोट इकठ्ठा करना चाहते हैं? यह भेदभाव, क्या यह भाषा लोकतंत्र की हैं? मैं गोवा के मतदाताओं से कहना चाहता हूं कि यह मौका है इस प्रकार कि राजनीति को दफना देने का।

त्योहार से 10 दिन पहले हो जाएगी होली

उन्होंने यह भी कहा कि पिछले 5 वर्षों में राज्य में गरीबों के लिए 34 लाख घर बनाए गए हैं, जिनमें से 13 लाख घर दलितों के लिए हैं। इस बार रंगों की होली दस दिन पहले, दस मार्च यानी मतगणना वाले दिन को हो जाएगी। मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का जिक्र करते हुए कहा ‘राष्ट्रपति जी चूंकि कानपुर देहात के हैं, इसलिए वह क्षेत्र को बहुत याद करते हैं।’ इसके साथ साथ उन्होने बोला कि विपक्ष कुछ भी बोले लेकिन आज मुस्लिम महिलाए उनके साथ खड़ी है क्योकि वो जानती है कि उनकी सरकार उनके लिये लगातार बेहतर काम कर रही है जिससे उनका का जीवन बेहतर होता जा रहा है।

मोदी जी ने तीर तो चला दिया है अब देखना ये होगा कि ये कितना असर करता है। वैसे मोदी जी ने जो बोला वो पूरी तरह से सच है। आज देश का विपक्ष कुछ इसी तरह जनता के सामने अलग अलग खडे होकर भ्रम फैला रहे है ऐसे लोगों से सावधान रहना चाहिये।