दिल्ली चुनाव: 70 सीटों के लिए मतदान समाप्त, अब रिजल्ट की बारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए मतदान आज समाप्त हो गया। मतदान सुबह 8 बजे से शुरू हुआ और शाम 6 बजे तक चला। इस चुनाव में 1.47 करोड़ लोग मताधिकार का प्रयोग करने योग्य हैं जो 672 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। मतगणना मंगलवार को होगी। चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस पार्टियां मैदान में हैं। हालांकि, मुख्य मुकाबला बीजेपी और आम आदमी पार्टी में है। दोनों पार्टियों में कड़ी टक्कर है।

दिल्ली के मतदाताओं ने चुनाव दर चुनाव अधिकतम वोटिंग का रिकॉर्ड तोड़ा है। दिल्ली विधानसभा के पिछले छह चुनावों पर नजर डालें तो केवल एक बार दिल्ली में मतदान प्रतिशत में गिरावट आई है। इसके बाद हर बार विधानसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत बढ़ा है। खास बात ये है कि मतदान प्रतिशत बढ़ाने में केवल पुरुष मतदाता ही नहीं महिला मतदाताओं की भी अहम भूमिका रही है। शाम 5:25 बजे तक 51 फीसद से ज्यादा मतदान हो चुका था। अभी भी ज्यादातर मतदान केंद्रों पर वोटरों की लंबी लाइनें देखी जा रही हैं। चुनाव आयोग द्वारा मतदान का आधिकारिक आंकड़ा आने में देर शाम 7 बजे तक का समय लग सकता है। इसके बाद ही पता चल सकेगा इस बार अधिकतम मतदान का रिकॉर्ड टूटा या नहीं। बता दे की 2003 में 53.42 फीसद, 2008 में 57.58 फीसद, 2013 में 65.63 फीसद और वर्ष 2015 में दिल्ली में 67.12 फीसद मतदान हुआ था।

सबसे उम्रदराज मतदाता ने भी डाला वोट

आज दिल्ली की सबसे उम्रदराज मतदाता कालीतारा मंडल ने भी 111 वर्ष की उम्र में दिल्ली विधानसभा (Delhi Legislative Assembly) चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग किया।1908 में बांग्लादेश में जन्मी मंडल ने ग्रेटर कैलाश विधानसभा क्षेत्र के चितरंजन पार्क स्थित दक्षिणी दिल्ली नगर निगम(एसडीएमसी) के प्राथमिक स्कूल में अपना मत डाला।

वोटिंग के बीच अखिलेश यादव ने दी शुभकामनाएं

इस बीच शनिवार को मतदान के बीच ही समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) को शुभकामनाएं दी है। अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, दिल्ली के अभूतपूर्व कल्याण और विकास की निरंतरता की शुभकामनाएं। काम बोलता है.’ नतीजों से पहले ही अखिलेश यादव ने सीएम केजरीवाल को शुभकानाएं दी हैं। अब 11 फरवरी को ये शुभकामनाएं कौन और किसे देता है ये आने वाले समय में पता चलेगा।

11 फरवरी यानि मंगलवार को यह साफ हो जाएगा की राजधानी दिल्ली में कौन बाजी मारेगा।

दिग्गजों ने प्रचार में लगाई थी जान

आम आदमी पार्टी की तरफ से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पार्टी की ओर से चुनाव प्रचार की कमान संभाली थी। जबकि बीजेपी की ओर से अमित शाह ने पूरी दिल्ली में जमकर चुनाव के लिए प्रचार किया। आम आदमी पार्टी ने सीएम अरविंद केजरीवाल को ही मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर पेश किया है जबकि भाजपा ने सीएम पद के लिए किसी प्रत्याशी के नाम का एलान नहीं किया है।

पिछले चुनाव में आप ने मारी थी बाज़ी

पिछले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने चुनाव में बड़ी जीत दर्ज की थी। 2015 में आम आदमी पार्टी को 67 सीट, भाजपा को 3 सीट और कांग्रेस 1 भी सीट नहीं जीत पाई थी। लेकिन 2019 में हुए लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने सातों सीटों पर अपना कब्जा किया था। इस चुनाव में आप और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों का खाता नहीं खुला था।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •