15 देशों के राजनयिक कश्मीर के दौरे पर, पाकिस्तानी के दुष्प्रचार की निकली हवा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आर्टिकल 370 के हटने के बाद कश्मीर में हुए बदलाव, और वहां की वर्तमान स्थिति का जायजा लेने के लिए 15 देशों के राजनयिकों का एक प्रतिनिधिमंडल आज से दो दिन के कश्मीर के दौरे पर है|

कश्मीरियों ने निकाली पाकिस्तानी दुष्प्रचार की हवा

अपने दी दिवसीय कश्मीर दौरे के पहले दिन 15 देशों के राजनयिकों के दल ने सिविल सोसाइटी, स्थानीय मीडिया और नेताओं से मुलाकात की। स्थानीय लोगों और इकाइयों से राजनयिकों की इस मुलाकात का लक्ष्य कश्मीर की वर्तमान स्थिति का जायजा लेना था|

मुलाकात के दौरान स्थानीय लोगों ने जम्मू-कश्मीर में रक्तपात के पाकिस्तानी दुष्प्रचार को सिरे से खारिज किया। विदेशी राजनयिकों से बातचीत में स्थानीय लोगों ने न सिर्फ पाकिस्तान के द्वारा पूरी दुनिया में किये जा रहे दुष्प्रचार को सिरे से नकारा बल्कि आर्टिकल 370 के उन्मूलन के बाद बिना किसी खूनखराबे के हालात को संभालने के लिए मोदी सरकार की खुलकर तारीफ भी की। हालाँकि स्थानीय लोगों ने इतना जरूर कहा कि कुछ दिक्कतें हैं लेकिन कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए फिलहाल ये अपरिहार्य है।

withdrawal of Section 370 from Kashmir

दुनिया देख सके कश्मीर के असली हालात, यही दौरे का मकसद – रवीश कुमार

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने 15 देशों के राजनयिकों के प्रतिनिधिमंडल का कश्मीर दौरे के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि “राजनयिकों की पहली बैठक वहां के सुरक्षाकर्मियों के साथ हुई जिसमें सुरक्षा के हालात और आतंकवाद के खतरे के बारे में जानकारी दी गई। इसके बाद राजनयिकों ने सिविल सोसाइटी के सदस्यों से बातचीत की जो पूरे जम्मू-कश्मीर से आए थे, हर क्षेत्र से थे। कुमार ने बताया कि इसके बाद राजनयिकों ने स्थानीय मीडिया और नेताओं से मुलाकात की। किन-किन प्रमुख नेताओं से मुलाकात हुई? इस सवाल के जवाब में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि दौरा अभी जारी है, शुक्रवार को दौरा पूरा होने के बाद पूरा विवरण दी जाएगी।“

पाकिस्तान के अंतरराष्ट्रीय दुष्प्रचार के विपरीत विदेशी राजनयिकों के प्रतिनिधिमंडल ने घाटी में सामान्य हालात देखे। श्रीनगर में दुकाने खुली हुई थीं, सड़कों पर गाड़ियां सामान्य रूप से आ जा रही थीं और बाजार लोगों से गुलजार थे। विदेशी राजनयिकों ने यह भी देखा कि स्थानीय प्रशासन हालात सामान्य होने के लिए किस हद तक कोशिश कर रहा है।

स्थानीय लोगों ने लगाया पाकिस्तान पर आतंकवाद फैलाने का आरोप

स्थानीय लोगों ने पाकिस्तान पर जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद फैलाने और मासूम लोगों की जान लेने का आरोप लगाया। उन्होंने विदेशी राजनयिकों से गुजारिश की कि वे पाकिस्तान पर दबाव बनायें ताकि वह जम्मू-कश्मीर में दखल न दे। स्थानीय लोगों ने जोर देकर कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग पाकिस्तान को एक इंच भी जमीन देने को तैयार नहीं|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •